यूपी चुनाव को ले गरमाई बिहार की राजनीति

यूपी चुनाव को ले गरमाई बिहार की राजनीति

यूपी चुनाव को ले गरमाई बिहार की राजनीति#उत्तरप्रदेश (यूपी) में चुनाव को लेकर #बिहार में महागठबंधन के भीतर की राजनीति भी गरमा गई है। महागठबंधन के सबसे बड़े दल राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के सुप्रीमो #लालूप्रसाद पांच नवंबर को समाजवादी पार्टी (सपा) के #रजत_जयंती समारोह में शामिल होने #लखनऊ जा रहे हैं तो जदयू सुप्रीमो व मुख्यमंत्री वहां नहीं जाएंगे। इस बीच #नीतीश कुमार ने कहा है कि जदयू का #यूपी चुनाव लड़ना तय है।

महागठबंधन की चर्चा शुरू

सूत्रों के अनुसार यूपी चुनाव को लेकर कांग्रेस व सपा के महागठबंधन को लेकर चर्चा शुरू हो गई है। बात सीटों की संख्या पर अटकी है। इसमें राजद, रालोद व जदयू को भी शामिल करने की कवायद चल रही है। बताया जा रहा है कि सपा के रजत जयंती सामरोह के बहाने लखनऊ में जुटे सभी दलों के दिग्गज इसपर चर्चा करेंगे।

लालू का जाना तय, नीतीश ने बताई मजबूरी

सपा के समारोह में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद का जाना तय है, लेकिन नीतीश कुमार नहीं जा रहे। नीतीश ने कहा है कि छठ पर्व के कारण उनका पटना में रहना आवश्यक है। उनके घर में भी छठ पूजा होती है। नीतीश ने यह भी कहा कि वे सपा के अंदरूनी विवाद में पड़ना नहीं चाहते।

महागठबंधन नहीं, गठबंधन होगा

नीतीश कुमार ने आगे कहा कि किसी भी हालत में ‘महागठबंधन’ तो नहीं ही बनेगा, क्योंकि ‘महागठबंधन’ आमने-सामने की पार्टियों के बीच होता है, जैसा कि बिहार में हुआ। यूपी में तो ‘महागठबंधन’ सपा व बसपा में ही संभव है। अब जो भी होगा, ‘गठबंधन’ होगा।

यूपी में कांग्रेस करे पहल

नीतीश ने कहा कि यूपी में गठबंधन को लेकर वहां कांग्रेस को पहल करनी चाहिए। वह सबसे पुरानी पार्टी है। लेकिन, अभी तक कांग्रेस की तरफ से ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं मिला है।

रघुवंश ने नीतीश को दी नसीहत

नीतीश कुमार ने सपा के सम्मेलन में नहीं जाने की घोषणा की तो राजद के उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह उन्हें नसीहत देने से नहीं चूके। रघुवंश ने कहा कि नीतीश कुमार को सपा के कार्यक्रम में शामिल होना चाहिए। अगर वे ऐसा नहीं करते हैं तो धर्मनिरपेक्ष ताकतें कमजोर होंगीं, जिसका फायदा भाजपा को मिलेगा।

जदयू ने रघुवंश पर साधा निशाना

रघुवंश द्वारा नीतीश कुमार को नसीहत देने पर जदयू की प्रतिक्रिया भी समने आई है। जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि हमें किसी नसीहत की जरूरत नहीं है, जदयू का राष्ट्रीय नेतृत्व फैसले लेने के लिए सक्षम है।

डिप्टी सीएम बोले, कोई विवाद नहीं

विवाद को शांत करते हुए राजद नेता व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने कहा कि यह जदयू का आंतरिक मामला है। नीतीश कुमार जदयू के नेता हैं, सपा के सम्मेलन में जाने या नहीं जाने का फैसला उन्हें ही करना है। यह विवाद का मसला नहीं है। जहां तक लालू प्रसाद की बात है, वे जाएंगे।

शरद बोले, दो दिनों मे तय हो जाएगा स्वरूप

इन तमाम बातों के बीच जदयू के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव को महागठबंधन की उम्मीद है। वे कहते हैं, यूपी में जदयू महागठबंधन में शामिल होगा या नहीं, यह महागठबंधन कौसा होगा, यह दो दिनों में सामने आ जाएगा।

अन्य खबरों के लिए पढ़ें : National | International | Bollywood | Bihar | Jharkhand | Bhagalpur | Business | Gadgets

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App

You must be logged in to post a comment Login