ये कोशिकाएं खुद करेंगी अंडकोषों की मरम्मत, बढ़ाएंगी प्रजनन क्षमता

ये कोशिकाएं खुद करेंगी अंडकोषों की मरम्मत, बढ़ाएंगी प्रजनन क्षमता

वैज्ञानिकों ने कोशिकाओं के एक ऐसे छोटे से समूह की खोज की है जो खुद-ब-खुद #क्षतिग्रस्त_अंडकोषों की मरम्मत कर सकते हैं, जिससे पुरुषों की प्रजनन क्षमता को कायम रखा जा सकता है।

शोधकर्ताओं ने यह जानकारी दी। यह कोशिकाएं विशेष रूप से कैंसर से उबरने वाले पुरुषों के लिए खासतौर पर मददगार हो सकती हैं।

पुरुषों के वृषण को रेडिएशन या कैंसर के इलाज के दौरान कीमोथेरेपी जैसे बाह्य कारकों से नुकसान पहुंचने की संभावना बहुत अधिक होती है। कीमोथेरेपी के कारण कई बार वृषण को इतनी क्षति पहुंचती है कि नपुंसकता का खतरा पैदा हो जाता है।

शोधकर्ताओं का कहना है कि ये कोशिकाएं आंतरिक प्रक्रिया के जरिए क्षतिग्रस्त अंडकोषों की मरम्मत कर सकती हैं, हालांकि इस प्रक्रिया को अभी पूरी तरह से समझा नहीं जा सका है।

शोधकर्ताओं ने इन कोशिकाएं को मीवी2 एक्सप्रेसिंग नाम दिया है, जो अंडकोष की कोशिकाओं की क्षति की मरम्मत कर सकती हैं।

यूनिवर्सिटी ऑफ एडिनबर्ग के प्रोफेसर और स्टेम सेल जीवविज्ञानी डोनाल ओकैरोल ने बताया, “चूहों पर किए गए हमारे अध्ययन से पता चलता है कि भविष्य में इलाज के लिए इन कोशिकाओं को फ्रीज कर रखा जा सकता है। हमारा अगला कदम मनुष्यों में भी ऐसी कोशिकाओं की पहचान करना है।”

अन्य खबरों के लिए पढ़ेंNational | International | Bollywood | Bihar | Jharkhand | Bhagalpur | Business | Gadgets

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें eBiharJharkhand App

You must be logged in to post a comment Login