प्राथमिक व मध्य विद्यालय में शिक्षकों की कमी होगी दूर, 10,749 सृजित

प्राथमिक व मध्य विद्यालय में शिक्षकों की कमी होगी दूर, 10,749 सृजित

राज्य के प्राथमिक व मध्य विद्यालय में शिक्षकों के पद सृजन की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है| सरकार ने चरणबद्ध तरीके से अपग्रेड प्राथमिक व मध्य विद्यालय में शिक्षकों का पद सृजित करने का निर्णय लिया है| स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग की सचिव ने सभी जिला शिक्षा अधीक्षक से इस संबंध में रिपोर्ट मांगी थी|

जिला शिक्षा अधीक्षक की रिपोर्ट के आधार पर प्रथम चरण में 3,583 स्कूलों को पद सृजन के लिए चिह्नित किया गया है| इन स्कूलों में 10,749 पद सृजित किये जायेंगे| विभाग ने पद सृजन का प्रस्ताव प्रशासी पद वर्ग समिति को भेज दिया है| विद्यालय में चरणबद्ध तरीके से पद सृजन किया जायेगा| स्कूलों में तीन फेज में पद सृजन होगा| प्रथम चरण में वैसे प्राथमिक व मध्य विद्यालय जहां 100 बच्चे हैं, उनमें पद सृजित किया जायेगा|

मध्य विद्यालय में कक्षा छह से आठ में 100 विद्यार्थी होना अनिवार्य है| दूसरे चरण में 60 तथा तृतीय चरण में 40 बच्चों वाले विद्यालयों में पद सृजित किया जायेगा| प्राथमिक विद्यालय में दो व मध्य विद्यालय में तीन विषय विशेषज्ञ शिक्षकों की नियुक्ति की जायेगी| राज्य में आठ हजार अपग्रेड मध्य विद्यालय व लगभग 12 हजार अपग्रेड प्राथमिक विद्यालय हैं| विद्यालय सर्वशिक्षा अभियान के तहत शिक्षा गारंटी केंद्र से प्राथमिक विद्यालय में तथा प्राथमिक विद्यालय से मध्य विद्यालय में अपग्रेड किये गये हैं|

प्रथम चरण के लिए सरकार से चिह्नित स्कूलों में शुरू की प्रक्रिया

  • 90 हजार टेट सफल अभ्यर्थी :

राज्य में अब तक दो शिक्षक पात्रता परीक्षा हुई है| प्रथम शिक्षक पात्रता परीक्षा वर्ष 2013 में हुई थी| इसके बाद प्राथमिक व मध्य विद्यालयों में 16349 शिक्षकों की नियुक्ति हुई थी| प्रथम शिक्षक पात्रता परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों में से लगभग 40 हजार अभ्यर्थी तथा द्वितीय शिक्षक पात्रता परीक्षा में

सफल लगभग 50 हजार अभ्यर्थी नियुक्ति प्रक्रिया शुरू होने का इंतजार कर रहे हैं| द्वितीय शिक्षक पात्रता परीक्षा के प्रमाण पत्र का वितरण अभी नहीं हुआ है| इस माह प्रमाण पत्र वितरण की प्रक्रिया शुरू होने की संभावना है| प्रमाण पत्र संबंधित जिला के जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय से किया जायेगा, जबकि दूसरे राज्य के अभ्यर्थी जैक कार्यालय से अपना प्रमाण पत्र प्राप्त कर सकेंगे|

  • नियुक्ति नियमावली में हो रहा संशोधन :

पद सृजन की प्रक्रिया के साथ-साथ स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग ने प्राथमिक शिक्षक नियुक्ति नियमावली 2012 में संशोधन की प्रक्रिया भी शुरू कर दिया है| अब शिक्षक पात्रता परीक्षा सफल अभ्यर्थियों की सीधी नियुक्ति नहीं होगी| शिक्षक पात्रता परीक्षा सफल अभ्यर्थी को अब परीक्षा देनी होगी| परीक्षा झारखंड राज्य कर्मचारी चयन आयोग द्वारा ली जायेगी|

अन्य खबरों के लिए पढ़ें :

National | International | Bollywood | Bihar | Jharkhand | Bhagalpur | Business | Gadgets

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें eBiharJharkhand App

You must be logged in to post a comment Login