गणत्रतंदिवस पर मोदी का होगा थ्री-ई मंत्र: एजुकेशन, इम्प्लॉयमेंट एनर्जी और

गणत्रतंदिवस पर मोदी का होगा थ्री-ई मंत्र: एजुकेशन, इम्प्लॉयमेंट एनर्जी और

8582_untitled-2

 नई दिल्ली. स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र के भाषण से लेकर समारोह स्थल के लिए भी तैयारियां अंतिम दौर में हैं। समारोह स्थल पर इस बार 10,000 लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई है। 15 अगस्त को सुबह 6 बजे से 10 बजे तक डीटीसी की बसों में यात्री नि:शुल्क सफर कर सकेंगे। साथ ही, लाल किले तक जाने वाली बसों की संख्या भी बढ़ाई गई है, ताकि लोगों को असुविधा का सामना न करना पड़े।

 कड़ी सुरक्षा

स्वतंत्रता दिवस समारोह स्थल में कैमरा, दूरबीन, बैग, ब्रीफकेस, सिगरेट लाइटर, ट्रांजिस्टर, टिफिन बॉक्स, पानी की बोतलें, लंच बॉक्स आदि लाने की इजाजत नहीं दी जाएगी।

भाषण की तैयारी से पहले हुई थी बैठक
मोदी के लाल किले पर दिए जाने वाले भाषण से पहले एक अहम बैठक भी की गई थी। इसमें रसायन और उर्वरक मंत्री अनंत कुमार, कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद, ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल, मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने भाषण की तैयारी पर विचार किया। चार मंत्रियों की इस कमिटी के सुझाव के आधार भाषण का ब्लू प्रिंट तैयार किया गया।

प्रधानमंत्री मोदी का भाषण थ्री-ई यानी एजुकेशन, इम्प्लॉयमेंट और एनर्जी पर केंद्रिंत होगा। इन विषयों को लेकर मोदी अपना विजन जनता केपमने पेश करसकते हैं।

 ये हैं थ्री- ई

 इम्प्लॉयमेंट : इलाहाबाद के पास जगदीशपुर से हल्दिया तक गैस पाइपलाइन योजना का जिक्र मोदी के भाषण में हो सकता है। यह सर्किट उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और बंगाल के बीच बनाने का प्रस्ताव है। इसके जरिए मोदी चार राज्यों में रोजगार के नए अवसर पैदा किए जाने का संदेश दे सकते हैं।

 एनर्जी: ऊर्जा मंत्रालय की नई योजनाओं पर मोदी का फोकस रहेगा। हर गांव तक बिजली पहुंचाने का जिक्र हो सकता है।

 एजुकेशन: लड़कियों की शिक्षा पर जोर देने वाली योजना और देश भर में काबिल शिक्षकों को तैयार करने का जिक्र हो सकता है।

You must be logged in to post a comment Login