नवंबर के अंतिम सप्ताह में होगा झारखंड विधानसभा का शीतकालीन सत्र

नवंबर के अंतिम सप्ताह में होगा झारखंड विधानसभा का शीतकालीन सत्र

jharkhand-assembly#झारखंड विधानसभा का शीतकालीन सत्र इस बार तय समय से एक माह पूर्व आयोजित करने की योजना है। राज्य सरकार ने इसको लेकर तैयारियां शुरू कर दी है। माना जा रहा है कि नवंबर के आखिरी सप्ताह में विधानसभा शीतकालीन सत्र आहूत किया जाएगा। सत्र की अवधि चार दिन की होगी। जल्द ही प्रस्ताव कैबिनेट के समक्ष रखा जाएगा। यहां से सहमति मिलने के बाद सत्र आहूत करने को लेकर औपचारिक प्रक्रिया शुरू की जाएगी। इससे पूर्व शीतकालीन सत्र का आयोजन दिसंबर के अंतिम सप्ताह में होता था।

ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट की वजह से बजट सत्र का आयोजन जनवरी में करने की योजना है। इस कारण शीतकालीन सत्र एक माह पूर्व बुलाया जा रहा है। 15 नवंबर को राज्य स्थापना दिवस और 22 नवंबर को विधानसभा स्थापना दिवस है। इसको लेकर सरकार और विधानसभा सचिवालय व्यस्त रहेगा। इस वजह से इन दोनों आयोजनों के बाद शीतकालीन सत्र आहूत करने का विचार है।

राज्य सरकार के विभागों को शीतकालीन सत्र को लेकर आवश्यक तैयारी शुरूकरने का निर्देश दे दिया गया है। खासतौर पर विधानसभा में पेश होने वाले विधेयक को अंतिम रूप देने का काम शुरू हो गया है। विधेयक अंतिम समय में विधानसभा सचिवालय नहीं भेजने से कई बार परेशानी का सामना करना पड़ता है।

शीतकालीन सत्र में सरकार वर्तमान वित्तीय वर्ष का दूसरा अनुपूरक बजट लाएगी। उज्ज्वला योजना सहित कई नई योजनाओं को पूरा करने के लिए सरकार को राशि की जरूरत है।

राजनीतिक दलों ने भी शुरू की तैयारी : …
शीतकालीन सत्र को लेकर राज्य के राजनीतिक दलों ने भी तैयारी शुरू कर दी है। भाजपा विधायकों की बुधवार को बैठक बुलाई गई है। माना जा रहा है कि सत्र से पहले विधायकों को उन मुद्दों की जानकारी विस्तार से दी जाएगी। जिसे लेकर विपक्ष सरकार को घेरने की कोशिश में है। कांग्रेस और झारखंड मुक्ति मोर्चा के विधायकों की भी जल्द बैठक होने जा रही है।

अन्य खबरों के लिए पढ़ें : National | International | Bollywood | Bihar | Jharkhand | Bhagalpur | Business | Gadgets

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App

You must be logged in to post a comment Login