इस्लामिक स्टेट ISIS के आतंकियों की खैर नहीं, आ रही महिलाओं की फौज

इस्लामिक स्टेट ISIS के आतंकियों की खैर नहीं, आ रही महिलाओं की फौज

7736_kurdish-pic-1

इराक के सुलेमानिया में मिलिट्री कैंप में सेना के साथ अभ्यास करतीं कुर्द महिलाओं की फौज

इराक और सीरिया में ISIS ने जंग छेड़ रखी है। दोनों ही देशों की सेनाएं इनसे कड़ा मुकाबला कर रही हैं। साथ ही, दूसरे देश भी इसमें उनकी मदद कर रहे हैं। ISIS के लगातार बढ़ते प्रभाव को देखते हुए इराक में कुर्दिश महिलाओं की फौज भी अब उनसे लोहा लेने के लिए तैयार है। मध्यपूर्व के बाकी पड़ोसी देशों की सेनाओं के विपरीत पेशमेर्गा (कुर्दों की सेना) महिलाओं को सेना में भर्ती की अनुमति देता है।
कुर्द महिलाएं न सिर्फ इस सेना का हिस्सा बन सकती हैं, बल्कि वो अपने पुरुष साथियों की बराबरी में दुश्मनों से आमने-सामने मुकाबला भी करती हैं। पेशमेर्गा में महिलाओं को आगे बढ़ने की पूरी आजादी होती है। वो बड़े से बड़े पद तक पहुंचने में सक्षम हैं। महिलाओं को तैयार करने में मिलिट्री फोर्स भी बहुत अहम भूमिका निभाती है।
मिलिट्री के साथ संयुक्त अभ्यास और संगठन की ओर से महिलाओं को शिक्षा देकर उनका उत्साह बढ़ाया जाता है। आगे हम कुर्द महिला फौज की तस्वीरें दिखाने जा रहे हैं, जो ISIS से मुकाबला करने के लिए कड़ा अभ्यास कर रही हैं। ISIS के खिलाफ अपनी तैनाती से पहले वो सेना के साथ संयुक्त अभ्यास में जुटी हुई हैं।

You must be logged in to post a comment Login