नमामी गंगे योजना के तहत साहेबंगज में होगी गंगा आरती : रघुवर दास

नमामी गंगे योजना के तहत साहेबंगज में होगी गंगा आरती : रघुवर दास

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा है कि झारखंड के शहरी निकायों को दो अक्तूबर तक तथा 11 जिलों को शीघ्र ही ओडीएफ कर लिया जायेगा। इसके लिए योजनाबद्ध और समयबद्ध कार्यक्रम चलाया जा रहा है। नमामी गंगे योजना के तहत साहेबगंज में भी झारखंड ने अच्छा काम किया है। क्षेत्र में पड़नेवाले 78 में से 69 गांवों को ओडीएफ किया जा चुका है। वहां जल्द ही गंगा आरती शुरू करने की योजना है। गंगा में गंदा पानी न जाये, इसके लिए काम किया जा रहा है। दास शुक्रवार को झारखंड मंत्रालय में केंद्रीय पीएचईडी सचिव पी अय्यर से मुलाकात के दौरान उन्हें झारखंड में हो रहे कार्यों की जानकारी दे रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड में सीएसआर फंड से भी शौचालय बनाने का काम किया जा रहा है। इसके अलावा माइनिंग फंड से पाइपलाइन के द्वारा पानी पहुंचाने की योजना पर कार्य किया जा रहा है। बैठक में अय्यर ने स्वच्छ भारत योजना के तहत झारखंड में हो रहे काम की तारीफ की। उन्होंने कहा कि झारखंड देश के दूसरे राज्यों की तुलना में काफी बेहतर काम कर रहा है। यहां शौचालय निर्माण के लिए नये-नये तरीके से पैसा जुटाया जा रहा है। केन्द्र सरकार द्वारा झारखंड को इस कार्य हेतु और भी फंड दिया जाएगा। राज्य सरकार द्वारा खर्च की गई राशि को भी केन्द्र सरकार देने पर विचार करेगी। उन्होंने कहा कि नमामी गंगे योजना के तहत गंगा के नजदीक आदर्श गंगा ग्राम बनाना है। झारखंड इसमें भी अग्रणी भूमिका निभा सकता है। इसके तहत गांव में ही लिक्विड वाटर मैनेजमेंट, ड्रेनेज आदि की सुविधा रहेगी। गांव में शौचालय समेत अन्य सुविधाएं मुहैया करायी जायेंगी।

अय्यर ने कहा कि शौचालयों में ट्वीन पिट तकनीक का इस्तेमाल करें। इससे लोगों को एक साल के भीतर खाद भी मिल जायेगी। इस योजना में शौचालय में दो गड्ढे बनाये जाते हैं। एक गड्ढा भर जाने पर दूसरा गड्ढा शौचालय के लिए काम आयेगा। भरा हुआ गड्ढा एक साल के भीतर सेल्फ ट्रीटमेंट प्लांट के रूप में काम करते हुए वेस्टेज को खाद के रूप में परिवर्तित कर देगा। उन्होंने स्वच्छ भारत अभियान को प्रेरित करती बॉलीवुड फिल्म ‘टायलेट प्रेम कथा’ को टैक्स फ्री करने के संबंध में वार्ता की। दास ने इसपर सहमति व्यक्त की। उन्होंने कहा कि इस फिल्म से लोगों को प्रेरणा मिलेगी। दो अक्तूबर के बाद इस फिल्म को मोबाइल वैन के माध्यम से झारखंड के गांवों में दिखाने पर विचार किया जा रहा है। वहीं झारगोव टीवी के माध्यम से इसे सभी मुखिया को भी दिखाया जायेगा।

अन्य खबरों के लिए पढ़ेंNational | International | Bollywood | Bihar | Jharkhand | Bhagalpur | Business | Gadgets

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें eBiharJharkhand App

You must be logged in to post a comment Login