देश में जामताड़ा साइबर अपराध का गढ़ बन चुका है

देश में जामताड़ा साइबर अपराध का गढ़ बन चुका है

 देश में जामताड़ा साइबर अपराध का गढ़ बन चुका है #पश्चिमबंगाल से सटा #जामताड़ा साइबर अपराध की वजह से पूरे देश में चर्चित हो रहा है। हालिया आंकड़ों के मुताबिक #जामताड़ा साइबर अपराध का गढ़ बन चुका है और देशभर में इसकी पहचान इसी वजह से लेकर बढ़ भी रही है।

निर्वाचन आयोग के हालिया जागरूकता सप्ताह के दौरान प्रस्तुत एक नोट में जिक्र किया गया है कि खराब सिग्नल और कनेक्टिविटी की समस्या के बावजूद जामताड़ा में सेलफोन की तादाद अन्य संचार माध्यमों से काफी ज्यादा है। यह आंकड़ा भी चौकाने वाला है कि यहां के थानों में बड़ी संख्या में एटीएम फर्जीवाड़े के मामले दर्ज हो रहे हैं। सिर्फ करमाटांड थाने में पचास प्रतिशत से ज्यादा मामले एटीएम, क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड से जुड़े गबन को लेकर हुआ है। हालांकि पुलिस भी इसकी वजह नहीं बता पाती कि आखिरकार यहां साइबर अपराध पनपने की वजह क्या है? एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि अक्सर साइबर अपराध की जांच करने के लिए किसी न किसी प्रदेश की पुलिस जामताड़ा में होती है। एक टीम यहां जांच कर रवाना नहीं होती कि उससे पहले दूसरी टीम आ धमकती है।

ज्यादातर युवा जुड़े हैं अपराध से : …

जामताड़ा में साइबर अपराध से जुड़े ज्यादातर शख्स युवा है। 20 से 30 वर्ष के अपराधी लगातार घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। वे संगठित गिरोह के तौर पर काम करते हैं और पेशेवर अंदाज में आपराधिक गतिविधियों को अंजाम देते हैं। अलग-अलग 150 गिरोह इस काम में संलिप्त हैं जो पुलिस के लिए चुनौती बने हुए हैं।

देश में बढ़ा साइबर अपराध : …

नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्यूरो के मुताबिक देश में साइबर अपराध के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। पूर्व में घटित होने वाले अपराध के मुकाबले आंकड़ा दोगुना हो गया है। 2013 में पूरे देश में साइबर अपराध के 5613 मामले रिकार्ड किए गए जबकि 2015 में इसकी संख्या बढ़कर 11331 हो गई।

अन्य खबरों के लिए पढ़ें : National | International | Bollywood | Bihar | Jharkhand | Bhagalpur | Business | Gadgets

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App

You must be logged in to post a comment Login