बेउर जेल में पटना पुलिस की टीम ने की छापेमारी

बेउर जेल में पटना पुलिस की टीम ने की छापेमारी

बेउर जेल में पटना पुलिस की टीम ने की छापेमारी #भोपाल जेल से सिमी के आठ आतंकियों के भाग जाने और मुठभेड़ में मारे जाने के बाद बेउर जेल में #पटना पुलिस की टीम ने छापेमारी की। #बेउर जेल में भी गांधी मैदान और #बोध_गया ब्लास्ट के आरोप में दस आतंकी बंद हैं। इसमें कई सिमी से जुड़े हैं। मंगलवार की सुबह तीन बजे से सुबह सात बजे तक आठ थानों की पुलिस ने आतंकियों के सेल को खंगाला। जेल में बंद लगभग दो हजार कैदियों व बंदियों के सभी वार्ड के चप्पे-चप्पे की तलाशी ली गई।

इसी दौरान गंगा वार्ड के बाहर कूड़े के ढेर में एक झोला मिला। उसमें एक सिमकार्ड, एक मेमोरीकार्ड, एक पेन ड्राइव और एक चार्जर बरामद किया गया। जेल प्रशासन जब्त किए सामान की जांच में जुटा है। इधर, जेल प्रशासन ने बेउर जेल के सरयू खंड के सेल में कैद उमर सिद्दीकी, अजहरूद्दीन कुरैशी, इम्तियाज अंसारी, नोमान अंसारी, जियाउल्लाह, अहमद हुसैन समेत 10 आतंकियों की सुरक्षा बढ़ा दी है। 13 अक्टूबर को इन आतंकियों ने सैप जवान के साथ मारपीट करने के साथ ही हंगामा भी किया था।
दूसरी तरफ मंगलवार को ही डीएम संजय कुमार अग्रवाल, एसएसपी मनु महाराज के अलावा पुलिस व प्रशासन के कई वरीय अधिकारी भी बेउर जेल पहुंचे। लगभग दो घंटे तक डीएम और एसएसपी जेल परिसर में रहे और आतंकियों के सेलों के सुरक्षा की समीक्षा करने के साथ ही जेल प्रशासन को अहम दिशा-निर्देश दिए।

अचानक छापेमारी से कैदियों और बंदियों में अफरा-तफरी

डीएम, एसएसपी और आठ थानों की लगभग दो सौ पुलिस कर्मियों के साथ जेल में हुई अचानक छापेमारी से कैदियों और बंदियों में अफरातफरी मच गई। कैदियों व बंदियों के हरेक सामन की तलाशी ली गई। कैदियों के बेड की भी जांच गई। रसोई घर से लेकर अन्य संदिग्ध स्थानों की भी जांच की गई। इधर, डीएम ने कहा कि सरकार से इस बात की अनुशंसा की जाएगी कि जल्द से जल्द बेउर जेल में बंद आतंकियों का स्पीडी ट्रायल कराया जाए।
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से आतंकियों की सुनवाई की तैयारी
भोपाल जेल से सिमी आतंकियों के भागे जाने और फिर मुठभेड़ में मारे जाने के बाद जिला प्रशासन से लेकर पटना पुलिस और जेल विभाग भी सतर्क हो गया है। एसएसपी मनु महाराज ने कहा कि इन आतंकियों की सुनवाई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से कराने की तैयारी चल रही है। जब तक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनवाई शुरू नहीं होती है तब तक आतंकियों को बेउर जेल से कोर्ट ले जाने के लिए सुरक्षा चुस्त रहेगी। बकौल एसएसपी- बेउर जेल से इन आतंकियों को ले जाने के लिए एक इंस्पेक्टर, आठ एसआई और दस कमांडों को लगाया जाएगा। साथ ही सुनवाई के दिन सभी थानों को भी सूचना दी जाएगी ताकि पुलिस बेउर जेल से ले जाने से लेकर कोर्ट में फिर वापसी तक पुलिस अलर्ट रहे।
बेउर जेल की चहारदीवारी के पास रहने वाले लोगों की बनेगी सूची
आर्दश केंद्रीय कारा, बेउर की चहारदीवारी के पास रहने वाले लोगों की सूची बनेगी। कभी-कभी बेउर जेल में पास के मकानों से मोबाइल व अन्य सामान फेंके जाते रहे हैं। अब ऐसे लोगों पर प्रशासन की कड़ी नजर होगी। अगर किसी ने जेल के भीतर मोबाइल या कोई आपत्तिजनक सामान फेंका तो वैसे लोगों पर कार्रवाई होगी। यही नहीं बेउर जेल के पास झोपड़ियों को भी हटा दिया जाएगा। डीएम ने फुलवारीशरीफ के सीओ अरुण कुमार को बेउर जेल की चहारदीवारी के पास रहने वाले लोगों की सूची बनाने के साथ ही झोपड़ियों को हटाने के आदेश दिए है। इधर, बेउर जेल के अंदर व बाहर और सीसीटीवी भी लगाया जाएगा। फिलहाल यहां 32 सीसीटीवी लगाए गए हैं। जेल प्रशासन का दावा है कि सभी सीसीटीवी काम कर रहे हैं।

अन्य खबरों के लिए पढ़ें : National | International | Bollywood | Bihar | Jharkhand | Bhagalpur | Business | Gadgets

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App

You must be logged in to post a comment Login