30 दिन में 3 आर्थिक ताकतों के साथ पीएम मोदी ने किए 23 अहम समझौते

30 दिन में 3 आर्थिक ताकतों के साथ पीएम मोदी ने किए 23 अहम समझौते
modi ji
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बीते 30 दिनों में दुनिया की 3 सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देश- अमेरिका, चीन और जापान के राष्‍ट्राध्‍यक्षों से मुलाकात की। इन मुलाकातों में कुल मिलाकर 23 अहम आर्थिक फैसले हुए।
क्रि‍सि‍ल के मुख्‍य अर्थशास्‍त्री डी. के. जोशी ने कहा कि‍ इन फैसलों से भारतीय बाजार में डि‍मांड पैदा होगी। जोशी ने कहा, “जापान से इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर और मैन्‍युफैक्‍चरिंग, अमेरिका से डि‍फेंस और एनर्जी तथा चीन से स्‍पेशल इकोनॉमि‍क जोन सेक्‍टर्स में मांग बढ़ने की उम्‍मीद है।”  हालांकि, जोशी का मानना है कि प्रधानमंत्री का कदम स्ट्रेटेजी के तौर पर भले ही काफी अच्‍छा हो, लेकि‍न इसे जमीन पर उतारने में वक्‍त लगेगा। आइए, जानें उन 23 अहम आर्थिक फैसलों के बारे में
मोदी की अमेरिका यात्रा (26 से 30 सितंबर)
अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और मोदी की पहली मुलाकात में द्विपक्षीय संबंधों को नए स्तर पर ले जाने पर सहमति बनी। आखिरी दो दिनों में हुई शिखर वार्ता में दोनों देशों के बीच व्यापार को 500 अरब डॉलर तक पहुंचाने, अमेरिकी परमाणु कंपनियों के लिए भारत में निवेश के नए रास्ते खोलने और डब्ल्यूटीओ के व्यापार सुविधा समझौते जैसे कई आर्थिक मामलों पर चर्चा के साथ-साथ आम सहमति बनी।
अमेरिका के साथ हुए 10 अहम फैसले
  1. भारत-अमेरिका के बीच वैश्विक भागीदारी स्वाभाविक है, लिहाजा आर्थिक सहयोग के लिए नीतियों में बदलाव किए जाएंगे।
  2. इलाहाबाद, अजमेर और विशाखापट्टनम को स्मार्ट सिटी बनाने में अमेरिकी सहयोग से 100 स्मार्ट सिटी का लक्ष्य पूरा करना।
  3. आतंकवाद से निपटने के लिए दोनों देश एक दूसरे की मदद करेंगे।
  4. भारत पर्यावरण के अंतरराष्ट्रीय मानकों पर खरा उतरने के लिए राजी है, जिससे दोनों देश के बीच अहम आर्थिक रिश्तों की नींव रखी जाएगी।
  5. भारत ने खाद्य सुरक्षा पर अपनी चिंता जाहिर की और अमेरिका ने भी इस समस्या से उभरने में मदद पर सहमति जताई।
  6. भारत में प्रस्तावित डिफेंस यूनिवर्सिटी बनाने में अमेरिका करेगा मदद।
  7. अमेरिका-भारत ने रक्षा सहयोग के फ्रेमवर्क एग्रीमेंट को 10 साल के लिए बढ़ाया।
  8. इंफ्रा प्रोजेक्ट पर दोनों देशों की कंपनियां मिलकर काम करेंगी।
  9. भारत में डिफेंस और आईटी सेक्टर में अमेरिका से बड़ा निवेश होगा।
  10. अमेरिका के राष्ट्रपति को भारत आने का न्यौता
चीन के राष्ट्रपति का भारत दौरा (17-19 सितंबर)
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की तीन दिनी भारत यात्रा के दौरान दोनों देशों की अर्थव्‍यवस्‍था को मजबूत करने के लि‍ए 12 अहम करार कि‍ए। चीन ने अगले पांच साल में 20 अरब डॉलर के निवेश पर सहमती जताई। इसके अलावा दोनों देशों के बीच व्यापार को संतुलित करने के लिए भारत ने अपनी कंपनियों के लिए चीन के दरवाजे खोलने की मांग मजबूती के साथ रखी।
चीन के साथ अहम 7 करार
  1. भारत में हाई स्पीड ट्रेन, सुस्त रेलवे की स्पीड बढ़ाने और  रेलवे स्टेशनों को मॉर्डनाइज करना।
  2. मुंबई और शंघाई के बीच सिस्टर सिटी रिश्ता बनाना, जिससे शंघाई के तर्ज पर मुंबई का विकास हो।
  3. फार्मा क्षेत्र में अहम समझौतों के तहत ड्रग स्टैंडर्ड, पारंपरिक दवाओं और ड्रग टेस्टिंग पर साझा कार्यक्रम।
  4. चीन के बाजार में भारतीय एग्री प्रोडक्ट्स के बाजार का विस्तार करना।
  5. स्पेस मिशन में दोनों देश आपसी सहयोग से रिसर्च और डेवलपमेंट पर काम करेंगे।
  6. गुआंगझू शहर और अहमदाबाद के बीच सि‍स्‍टर सि‍टी समझौता।
  7. इलेक्‍ट्रॉनि‍क गुड्स के लि‍ए बडौदा में इंडस्‍ट्रि‍यल पार्क पर समझौत
मोदी की जापान यात्रा (30 अगस्त से 2 सितंबर)
प्रधानमंत्री मोदी ने तीन दिन के जापान दौरे पर जापानी प्रीमियर शिंजो अबे से अहम करार किए। इन समझौतों के तहत अगले पांच सालों में जापान 35 अरब डॉलर का निवेश करेगा। भारत में बुलेट ट्रेन चलाने के लि‍ए तकनीकी मदद देने से लेकर
जापान के साथ 6 महत्वपूर्ण समझौते
  1. जापान की पब्‍लि‍क और प्राइवेट कंपनि‍यां अगले पांच सालों में कुल 35 अरब डॉलर का नि‍वेश करेंगी।
  2. भारत में बुलेट ट्रेन चलाने के लि‍ए जापान सरकार तकनीकी मदद देने को तैयार हुआ है।
  3. रेल लिंक के लि‍ए जापान देगा तकनीकी सहायता।
  4. देश की लाइफलाइन नदी गंगा की सफाई के लिए आर्थिक और तकनीकि योगदान देगी जापान सरकार।
  5. न्‍यूक्लि‍यर डील आगे बढ़ाने की बात।
  6. जापान के स्‍कि‍ल डेवलपमेंट एंड रि‍सर्च मॉडल को अपना कर भारत 2020 तक ग्‍लोबल वर्कफोर्स तैयार करेगा।

साभारः दानिक भास्कर

You must be logged in to post a comment Login