2जी प्रकरण में कनिमोझी का सीबीआई याचिका पर विरोध

2जी प्रकरण में कनिमोझी का सीबीआई याचिका पर विरोध

नई दिल्ली ! डीएमके सांसद और 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन मामले की आरोपी कनिमोझी ने गुरुवार को अभियोजन पक्ष के गवाह के तौर पर कुछ और लोगों से पूछताछ करने की अनुमति मांगने की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की याचिका का विरोध किया। सीबीआई की विशेष अदालत से कनिमोझी ने कहा कि जांच एजेंसी ने बहुत देरी से और लोगों से पूछताछ करने की अनुमति मांगी है, जबकि सबूतों को रिकार्ड पर लिया जा चुका है। कलैगनार टीवी के प्रबंध निदेशक और सह-आरोपी शरद कुमार ने भी याचिका रद्द करने की मांग की, जबकि अन्य आरोपियों ने न्यायाधीश से कहा कि वे सीबीआई की याचिका पर लिखित जवाब नहीं देंगे, बल्कि मौखिक रूप से अपना तर्क देंगे। अदालत ने मामले की सुनवाई के लिए 27 अक्टूबर की तिथि मुकर्रर की। सीबीआई ने याचिका में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के उपनिदेशक राजेश्वर सिंह तथा अन्य को अभियोजन पक्ष के गवाह के तौर पर बुलाए जाने की मांग की है। सीबीआई ने कहा कि ईडी की जांच में कुछ नए तथ्य सामने आए हैं। ईडी ने 2जी मामले से संबंधित धन की हेराफेरी मामले में 19 आरोपियों के खिलाफ एक अलग आरोपपत्र दाखिल किया है। सीबीआई के मुताबिक, तत्कालीन संचारमंत्री ए. राजा ने 2जी स्पेक्ट्रम और संचालन लाइसेंस के आवंटन में तरफदारी की थी, जिससे सरकार को भारी नुकसान हुआ था। अदालत ने 22 अक्टूबर 2011 को 14 आरोपियों और तीन कंपनियों के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता तथा भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत आरोप तय किए थे। इस मामले में राजा सहित सभी आरोपी जमानत पर रिहा हैं।

You must be logged in to post a comment Login