17 साल की लड़की ने मशहूर पहलवान को दी शिकस्त

17 साल की लड़की ने मशहूर पहलवान को दी शिकस्त

neha

उत्तराखंड की एक 17 साल की लड़की ने मशहूर रेसलर सोनू पहलवान को हराकर हर किसी को हैरान कर दिया। हार का स्वाद चखने वाले सोनू पहलवान इस लड़की से न सिर्फ बड़े और ज्यादा अनुभवी थे, बल्कि उनका वजन भी 16 किलोग्राम ज्यादा था।

शहर के जोगी नवादा में हरियाणा, राजस्थान, उत्तराखंड और अन्य राज्यों के पहलवान सालाना मुकाबले में हिस्सा लेने के लिए इकट्ठा हुए थे। इस बड़े मुकाबले में उत्तराखंड के रूद्रपुर की नेहा तोमर सभी के आकर्षण का केंद्र बन गईं।
खचाखच भरे मैदान में शुक्रवार शाम दर्शक मुकाबले का मजा ले रहे थे और अपने पसंदीदा पहलवानों का उत्साह भी बढ़ा रहे थे। उसी वक्त एक टीनेजर ने पुरुष पहलवानों को मुकाबले की चुनौती दी। पहलवान इस चुनौती से हैरान रह गए। शुरुआत में अनदेखा करने के थोड़ी देर बाद उत्तराखंड के ही सोनू पहलवान ने इस चुनौती को स्वीकार कर लिया।
अगले कुछ ही क्षणों में मैदान का वातावरण पूरी तरह बदल चुका था। बेचैनी से भरे दर्शक नेहा का उत्साह बढ़ा रहे थे। नेहा ने मैदान में गजब की फुर्ती और साहस दिखाया। 10 मिनट से भी कम वक्त में नेहा ने अपने से ताकतवर प्रतिद्वंद्वी को शिकस्त दे डाली।
हमसे बातचीत करते वक्त नेहा ने कहा, ‘मैं महिला प्रतियोगियों को यह बताना चाहती थी कि वह कहीं से कमजोर नहीं हैं और इस खेल में बराबरी पर हैं।’ नेहा ने साथ ही कहा, ‘लेकिन इस चुनौती की वास्तविक वजह यह थी कि मैं सभी महिला प्रतिद्वंद्वियों को हरा चुकी थी।’
कुश्ती मुकाबले के आयोजक जोगी नवादा रामलीला कमिटी के अध्यक्ष सुरेश राठौड़ ने कहा, ‘1972 में इस आयोजन की शुरुआत के बाद से ऐसा संभवतः पहली बार है जब एक महिला पहलवान ने किसी पुरुष पहलवान को शिकस्त दी हो।’
संयोजक सुनील शर्मा ने इस मुकाबले को हैरान कर देने वाला करार दिया। शर्मा ने कहा, ‘हम नेहा की भावना को आहत नहीं करना चाहते थे, इसलिए जब सोनू पहलवान उससे लड़ने के लिए तैयार हुए, तो हमने नियमों में छूट दी।’
राठौड़ ने कहा, ‘मशहूर पहलवान सुशील कुमार जब दौलत और शोहरत पाने के लिए संघर्ष कर रहे थे, उन दिनों में उन्होंने हमारे ‘अखाड़े’ में हिस्सा लिया था। वह 2007 की बात है। हम आशा करते हैं कि नेहा भी भविष्य में बहुत आगे जाएंगी और देश के लिए कई मेडल जीतेंगी।’

You must be logged in to post a comment Login