स्वाइन फ्लू: दिल्‍ली में 10 व हैदराबाद में 70 मामले, एक मौत

स्वाइन फ्लू: दिल्‍ली में 10 व हैदराबाद में 70 मामले, एक मौत

14_01_2015-14swine (1)

राजधानी दिल्ली के साथ ही देश के अलग-अलग इलाकों स्वाइन फ्लू का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। दिल्ली में जहां मंगलवार को स्वाइन फ्लू के 10 नए मामले सामने आए हैं वहीं हैदराबाद में 70 मामलों की जानकारी मिली है। बताया जा रहा है कि हैदराबाद में एक फ्लू मरीज ने दम भी तोड़ दिया है।दिल्ली में स्वाइन फ्लू के जो नए मामले सामने आए हैं उन मरीजों में पांच पुरुष, चार महिलाएं व 19 महीने की बच्ची शामिल है। बच्ची दक्षिणी दिल्ली की रहने वाली है। आठ मामले दक्षिणी दिल्ली के हैं।पुरुष मरीज साउथ एक्सटेंशन, आश्रम, खिड़की एक्सटेंशन, महरौली व नेबसराय के रहने वाले हैं। महिला मरीज स्वतंत्रता सेनानी एंक्लेव, नेब सराय, सेंट्रल दिल्ली व बुद्ध विहार की रहने वाली हैं। तीन मरीजों का इलाज मदन मोहन मालवीय अस्पताल में चल रहा है।लेडी हार्डिग मेडिकल कॉलेज, सफदरजंग अस्पताल व भगवान महावीर अस्पताल में एक-एक मरीज भर्ती हैं। अन्य का इलाज निजी अस्पतालों में चल रहा है।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी भी चिंतित

जनवरी में अब तक 60 मामले सामने आ चुके हैं और चार लोगों की मौत हो चुकी है। एक दिन में 10 मामले सामने आने से स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी भी चिंतित हैं। स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव एससीएल दास ने अधिकारियों के साथ बैठक कर मामले की समीक्षा की।

नोएडा में दंपति में स्वाइन फ्लू की पुष्टि

शहर में स्वाइन फ्लू का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। ग्रेटर नोएडा में रहने वाले दंपति को भी सोमवार की रात निजी लैब ने स्वाइन फ्लू की पुष्टि की है। जिला अस्पताल में दंपति का सैंपल लेकर जांच के लिए दिल्ली भेजा गया है। अभी तक जिले में नौ मरीज स्वाइन फ्लू के मिल चुके हैं। जिला अस्पताल ने दोनों का सैंपल लेकर राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र दिल्ली के लिए भेजा है। स्वाइन फ्लू से पीड़ित दोनों मरीजों को सैंपल लेने के बाद घर भेज दिया गया।

ये हैं लक्षण

स्वाइन फ्लू का वायरस सांस के जरिए शरीर में प्रवेश करता है, इसलिए सबसे पहले नाक, गला व फेफड़ों को प्रभावित करना है। मरीज को जुकाम, खांसी, नाक से पानी व बार-बार छींक आती है। बुखार, गले में दर्द, सिर व पेट में दर्द, उल्टी और थकान की समस्या होती है। मांसपेशियों में अकड़न व सांस लेने में दिक्कत होने लगती है। ऐसे लक्षण दिखने पर डॉक्टर से तुरंत संपर्क करना चाहिए।

You must be logged in to post a comment Login