सृजन द क्रियेशन बना सिल्क खरीदारों की पहली पसंद

सृजन द क्रियेशन बना सिल्क खरीदारों की पहली पसंद

IMG_2360
हाल के दिनों में सबौर प्रखंड परिसर में स्थित सृजन द क्रियेशन, सिल्क खरीदारों की पहली पसंद में शामिल हो चुका है। भागलपुरी सिल्क, तसर, मूंगा आदि कई वेरायटी के परिधानों से सुसज्जित इस सिल्क आउटलेट ने अपनी गुणवत्ता से न सिर्फ स्थानीय बल्कि देश-विदेश के ग्राहकों को भी अपनी ओर आकर्षित किया है। बाॅलीवुड अभिनेता शक्ति कपूर द्वारा इस आउटलेट का शुभारंभ किया गया था। उन्होंने भी सिल्क परिधानों की जमकर खरीदारी की थी। इस आउटलेट की खासियत ग्रामीण स्तर के बुनकरों द्वारा बनाये गए हथकरघा उत्पाद हैं। हथकरघा उत्पादों की मांग अन्य उत्पादों से अधिक है।
क्रियेशन की संचालिका मनोरमा देवी बताती हैं कि इसके जरिये वह उन ग्राहकों तक पहुंचना चाहती हैं जो दूरी की वजह से सही कीमत पर हथकरघा जनित सिल्क परिधान की खरीद नहीं कर पाते हैं। इसके लिए सृजन द क्रियेशन आॅनलाइन सिल्क की बिक्री आरंभ करने जा रहा है जिसपर हरएक उत्पादों के तैयार होने की प्रक्रिया एवं उनके मानक के बारे में विवरण होगा। साथ ही इस आॅनलाइन प्रयास के जरिये ग्रामीण कारीगर सीधे अपने उत्पादों को बेच सकेंगे। सृजन द क्रियेशन की शुरूआत सृजन में बीते 25 वर्षों के दौरान आए विदेशी मेहमानों द्वारा सुझाए गए विचारों के आधार पर किया गया। जिसमें उनकी असीम इच्छा होती थी सही उत्पादों को खरीदने की पर दूरी और समय के अभाव की वजह से वो इससे वंचित रह जाते थे। स्थानीय स्तर पर आसपास के जिलों पटना, कटिहार, पूर्णिया, मुंगेर आदि से खरीदार इस आउटलेट पर आते हैं और अपने मनोनुकूल उत्पादों को पाकर काफी संतुष्ट नजर आते हैं। इससे हमारे प्रयासों को बल मिलता है।
सृजन द क्रियेशन की आॅफलाइन स्टोर में आनेवाले ग्राहकों से सीधे तौर पर जुड़ी सुनीता देवी बताती है कि यह न सिर्फ सिल्क का एक आउटलेट है बल्कि हजारों महिला कारीगरों को सीधे तौर पर मिलने वाली मेहनत की कमाई का जरिया है। जब भी कोई खरीदार इस आउटलेट पर आता है तो उन्हें यह आभास होता है कि उनके द्वारा खरीदे जाने वाले परिधान हजारों ग्रामीण परिवारों की रोजी-रोटी से जुड़े हैं। इस स्टोर में उपलब्ध कारीगरी देखकर वे दंग रह जाते हैं और सही कीमत उन्हें पुनः स्टोर पर खींच लाती है। यही वजह है कि इतने कम समय में हम जिले के अन्य प्रतिष्ठित सिल्क बिक्री केन्द्रों के समकक्ष अपनी जगह बना पाए हैं। शक्तिस्वरूपा इस दुर्गा पूजा के अवसर पर हमलोग ग्राहकों को उनके खरीदारी पर छूट भी दे रहे हैं। सृजन द क्रियेशन के जरिये हमसभी महिलाएं हर परिधान में नये डिजायनों को निरंतर सृजित करने का प्रयास करते हैं जिसमें अपनी संस्कृति की झलक का भी हम ध्यान रखते हैं। फिर वह मंजूषा कला हो या मधुबनी या फिर आदिवासी कला इस सबों की झलक हमारे सिल्क परिधानों पर मिलती है। यही वजह है कि सिल्क नगरी के एक छोटे से प्रखंड में स्थित इस केन्द्र की ओर ग्राहक खींचे चले आते हैं।

You must be logged in to post a comment Login