नवाज शरीफ ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में फिर कश्मीर का राग अलापा

नवाज शरीफ ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में फिर कश्मीर का राग अलापा

26_09_2014-nawazs

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में एक बार फिर कश्मीर का राग अलापा। दुनिया की सबसे बड़ी पंचायत के सामने शुक्रवार को अपने भाषण में शरीफ ने वहां की जनता को न्याय दिलाने के लिए जनमत संग्रह की मांग की। उन्होंने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच कश्मीर एक मुख्य मुद्दा है और इसे ज्यादा समय तक उपेक्षित नहीं रखा जा सकता। पाकिस्तान शांति के साथ कश्मीर मुद्दा सुलझाने का पक्षधर है। इसके साथ ही शरीफ ने भारत पर विदेश सचिव स्तर की वार्ता रद कर एक अवसर गंवाने का भी आरोप लगाया। इस मौके पर इमरान और ताहिरुल कादरी के समर्थकों ने संयुक्त राष्ट्र के बाहर शरीफ के खिलाफ नारेबाजी की।इससे पहले गुरुवार को संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून के साथ अपनी मुलाकात के दौरान भी शरीफ ने कश्मीर का मामला उठाया। न्यूयॉर्क स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में गुरुवार को हुई भेंट में शरीफ ने भारत के साथ विदेश सचिव स्तर की वार्ता रद होने पर अपनी निराशा जाहिर की। शरीफ ने भारत के इस कदम को वार्ता प्रक्रिया की दिशा में गतिरोध करार दिया। दोनों नेताओं ने बातचीत के दौरान भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों को बेहतर बनाने की जरूरत पर चर्चा की। शरीफ ने मून को बताया कि सुरक्षा परिषद के सामने कश्मीर मुद्दा लंबे समय से विवाद का विषय रहा है। उन्होंने महासचिव से सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव के तहत इस मामले के शांतिपूर्ण समाधान के लिए कदम उठाने का अनुरोध किया।प्रधानमंत्री शरीफ ने मून को यह भी बताया कि उनकी सरकार भारत के साथ सभी विवादित मुद्दों का समाधान बातचीत के जरिये करने के लिए प्रतिबद्ध है।गौरतलब है कि शिमला समझौता और लाहौर घोषणा पत्र में दोनों देशों के बीच विवादित मुद्दों का समाधान आपसी बातचीत से करने का प्रावधान है। लेकिन इसके बावजूद पकिस्तान जब-तब कश्मीर मामले को संयुक्त राष्ट्र संघ में उठाकर इसको अंतरराष्ट्रीय मुद्दा बनाने का प्रयास करता रहा है। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कश्मीर में जनमत संग्रह की मांग उठा दी है। यूएन में अपने भाषण में शरीफ ने कहा कि कश्मीर में निवासियों को बहुत दिक्कतें हो रही हैं। उन्हें मूलभूत सुविधाएं नहीं हैं। यहां तक पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने कश्मीर में महिलाओं की स्थिति पर भी सवाल उठाए। शरीफ ने कहा कि पाकिस्तान बातचीत के जरिए कश्मीर मुद्दा सुलझाना चाहता है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वे पड़ोसी देशों के साथ अच्छे संबंध चाहते हैं। इससे पहले शरीफ ने यूएन के महासचिव बान की मून से मिलकर जम्मू और कश्मीर का मुद्दा उठाया था। पहले से ही आशंका जाहिर की जा रही थी कि पाकिस्तान यूएन में यह मसला उठाएगा।

You must be logged in to post a comment Login