‘लव जिहाद’ के बदले में ‘बजरंग जिहाद’?

‘लव जिहाद’ के बदले में ‘बजरंग जिहाद’?

Forced-marriage

तसलीमा (बदला हुआ नाम) की शादी बजरंग दल के कार्यकर्ता राजेश शेट्टी से 16 अक्टूबर को आर्य समाज मंदिर में हुई। अब तसलीमा ने राजेश शेट्टी के साथ-साथ अन्य बजरंग दल कार्यकर्ताओं के खिलाफ अपहरण, धर्म परिवर्तन, जबरन शादी और एक महिला की इज्जत के साथ खिलवाड़ करने का आरोप दर्ज करवाया है।
20 साल की तसलीमा मैंगलोर से 15 किलोमीटर दूर एलयारपडावू की रहने वाली हैं। तसलीमा ने अपनी शिकायत में कहा कि राजेश शेट्टी को वह अपनी बड़ी बहन के फेसबुक के जरिये जानती थीं। एक दिन बड़ी बहन ने मुझे बताया कि राजेश को कुछ पैसे की जरूरत है। मैंने मार्केट रोड स्थित राजेश की दुकान पर उसे 6000 रुपये दिए और तभी राजेश ने मुझे जूस पीने दिया, जिसमें कुछ मिला हुआ था। इसके बाद राजेश ने मुझे एक वैन में बिठाया, जिसे प्रवीण कुथार चला रहा था।
तसलीमा के आरोपों के अनुसार वहां से वे लोग मुझे दिनेश की फ़ाइनैंस फर्म पर ले गए, जहां करीब 10 लोगों ने मुझे राजेश से शादी करने और धर्म परिवर्तन के लिए धमकाया। जब मैंने मना किया तो उन्होंने मेरे पैरंट्स के नाम पर मुझे धमकी दी। अगले दिन (16 अक्टूबर) मुझे आर्य समाज मंदिर ले जाया गया और शादी कर दी गई। यहां पर विश्व हिंदू परिषद के मैंगलोर जिले के प्रेजिडेंट जगदीश शेनवा ने मुझे पुलिस के पास नहीं जाने की धमकी दी और कहा कि अगर ऐसा करोगी तो मेरे पैरंट्स के साथ बहुत बुरा होगा। शादी के वक्त आर्य समाज मंदिर में कोनाजे थाने की पुलिस भी मौजूद थी, जो मेरे पिता द्वारा मेरे अपहरण की शिकायत पर वहां पहुंची थी। तसलीमा ने यह भी बताया कि 17 अक्टूबर को जगदीश शेनवा ने मुझसे कुछ पेपर पर साइन करवाए और डेप्युटी कमिश्नर के ऑफिस ले गए और कुछ और भी कागजातों पर अंगूठे का निशान ले लिया। अपने आरोप में तसलीमा ने कहा कि अत्तावर के एक घर में उसके साथ चार लोगों ने छेड़छाड़ की कोशिश की। 19 अक्टूबर को होटेल रेजिडेंसी से तसलीमा तब भाग गईं, जब उसका पति राजेश बाथरुम में था। कोनाजे पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। मैंगलोर पुलिस कमिश्नर आर. हितेंद्र ने कहा कि मामले की जांच चल रही है।

You must be logged in to post a comment Login