रैना के शतक से चेन्नई ने चैम्पियंस लीग खिताब जीता

रैना के शतक से चेन्नई ने चैम्पियंस लीग खिताब जीता

chennai kings

सुरेश रैना के शानदार शतक से चेन्नई सुपर किंग्स ने एकतरफा फाइनल में शनिवार को कोलकाता नाइट राइडर्स को हराकर चैम्पियंस लीग टी20 क्रिकेट टूर्नामेंट जीत लिया। जीत के लिए 181 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए केकेआर ने रैना के 62 गेंद में 109 रन की मदद से नौ गेंद शेष रहते जीत दर्ज की। उन्होंने अपनी पारी में छह चौके और आठ छक्के लगाए। उन्होंने अपना शतक 59 गेंदों में पूरा किया। कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने युसूफ पठान को लगातार दो छक्के लगाकर विजयी रन बनाए।

यह चेन्नई का तीन साल में पहला खिताब है जिसने आखिरी बार 2011 में आईपीएल और चैम्पियंस लीग जीती थी। उसे 2012 आईपीएल फाइनल में कोलकाता नाइट राइडर्स ने हराया। इस साल भी उसे आईपीएल में केकेआर के हाथों दो बार पराजय झेलनी पड़ी थी।

टी20 क्रिकेट के बेहतरीन बल्लेबाजों में शुमार रैना ने केकेआर के गेंदबाजों पर कोई रहम नहीं दिखाया। स्पिनर सुनील नारायण की गैर मौजूदगी में केकेआर की गेंदबाजी धारहीन नजर आई। रैना अब टी20 अंतरराष्ट्रीय, आईपीएल और चैम्पियंस लीग में शतक जमाने वाले एकमात्र खिलाड़ी बन गए हैं।

रैना ने ब्रेंडन मैक्कुलम के साथ सिर्फ 12.2 ओवरों में 118 रन और धौनी के साथ 5.2 ओवर में 58 रन जोड़े। मैक्कुलम ने 30 गेंद में 39 रन बनाए।

इससे पहले बाएं हाथ के स्पिनर पवन नेगी के पांच विकेट की बदौलत चेन्नई सुपर किंग्स ने कोलकाता नाइट राइडर्स को छह विकेट पर 181 रन पर रोक दिया जबकि उसके कप्तान गौतम गंभीर ने 51 गेंद में 80 रन बनाए। दिल्ली के 21 वर्षीय नेगी अपनी प्रदेश टीम के भी नियमित सदस्य नहीं हैं और तीन साल में सिर्फ दो प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं। उन्होंने चार ओवर में 22 रन देकर पांच विकेट लिए जिससे केकेआर 200 के पार नहीं पहुंच सका।

पहले बल्लेबाजी के लिए भेजे जाने पर केकेआर के कप्तान गंभीर ने मोर्चे से अगुवाई की। उन्होंने रौबिन उथप्पा (39) के साथ पहले विकेट के लिए 91 रन की साझेदारी की। गंभीर ने अपनी पारी में सात चौके और तीन छक्के लगाए। आखिरी ओवरों में युवा मनीष पांडे ने 19 गेंद में 32 रन और युसूफ पठान ने नौ गेंद में 20 रन बनाए।

टर्न और उछाल लेती चिन्नास्वामी स्टेडियम की पिच पर नेगी ने बल्लेबाजों को काफी परेशान किया। उन्होंने उथप्पा और जाक कैलिस को पहले स्पैल में आउट किया और उसके बाद पांडे, रियान टेन डोइशे (0) और कुलदीप यादव (0) को 19वें ओवर में पांच गेंद के भीतर आउट किया। पहले 10 ओवरों में 89 रन लुटाने के बाद चेन्नई के गेंदबाजों ने वापसी की और आखिरी दस ओवरों में छह विकेट चटकाए हालांकि उन्होंने 91 रन भी दिए। केकेआर के सलामी बल्लेबाजों गंभीर और उथप्पा ने दूसरे ओवर में मोहित शर्मा को चौके जड़कर 13 रन लिए।

केकेआर के 50 रन 5.4 ओवरों में बने। उथप्पा और गंभीर ने स्पिनर आर अश्विन और रविंद्र जडेजा के खिलाफ खुलकर रन बनाए। नेगी ने फ्लाइट लेती गेंद पर उथप्पा को आउट किया जबकि महेंद्र सिंह धौनी ने विकेट के पीछे आसान स्टम्पिंग की। गंभीर ने अर्धशतक 35 गेंद में पूरा किया। कैलिस (1) के जल्दी आउट होने के बाद गंभीर और पांडे ने उम्दा साझेदारी की। गंभीर ने नेगी और ब्रावो को छक्के लगाए। ऐसा लग रहा था कि वह आज शतक जमायेंगे लेकिन जडेजा ने उन्हें ब्रेंडन मैक्कुलम के हाथों लपकवाकर उनकी पारी का अंत किया। पांडे ने दो चौके और छक्के लगाकर स्कोर 150 के पार पहुंचाया। नेगी ने हालांकि फिर 19वें ओवर में सिर्फ दो रन दिए और तीन विकेट भी चटकाए। इसके बाद युसूफ पठान ने आशीष नेहरा को आखिरी ओवर में दो चौके और एक छक्का लगाकर चेन्नई को चुनौतीपूर्ण लक्ष्य दिया।

You must be logged in to post a comment Login