नरेंद्र मोदी के जापान दौरे में हुआ पहला समझौता, क्‍योटो की तर्ज पर विकसित होगी काशी

नरेंद्र मोदी के जापान दौरे में हुआ पहला समझौता, क्‍योटो की तर्ज पर विकसित होगी काशी

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने पांच दिवसीय जापान दौरे के तहत शनिवार को ओसाका एयरपोर्ट पहुंचे। यहां से विशेष कार में सवार होकर वह क्योटो गए। जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे खुद उनके स्वागत के लिए क्योटो में मौजूद रहे। उन्‍होंने वहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सम्‍मान में भोज दिया। मोदी की इस यात्रा के दौरान दोनों देशों में पहला समझौता काशी के विकास को लेकर हुआ। कोशी को स्‍मार्ट सिटी बनाने के लिए क्‍योटो की तर्ज पर विकसित करने के समझौते पर भारतीय राजदूत और क्‍योटो के मेयर ने दस्‍तखत किए।
यात्रा के दौरान मोदी भी जापान की ‘स्मार्ट सिटी’ क्योटो का भ्रमण करके वहां विकास और अन्य व्यवस्थाओं का जायजा लेने वाले हैं। नरेंद्र मोदी सरकार भारत में सौ स्मार्ट सिटी बनाने की घोषणा कर चुकी है। क्योटो में उनके भ्रमण को इसी से जोड़कर देखा जा रहा है।
पीएम मोदी का एजेंडा 
भारतीय उपमहाद्वीप के बाहर यह नरेंद्र मोदी की पहली द्विपक्षीय यात्रा है। इस यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच बुलेट ट्रेन से संबंधित समझौते हो सकते हैं। साथ ही, करीब 85 अरब डॉलर के व्यापारिक समझौतों की भी उम्मीद है। नरेंद्र मोदी के एजेंडे में रक्षा क्षेत्र में सहयोग, सिविल न्यूक्लियर, इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट और प्राकृतिक संसाधन जैसे विषय शामिल हैं।
 मोदी के दौरे से जुड़ी अहम पांच बातें… 
1- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले क्योटो में मेजबान प्रधानमंत्री शिंजो आबे से निजी मुलाकात करेंगे। इसके बाद ही टोक्यो में एशिया की दूसरी (जापान) और तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था (भारत) के नेता आधिकारिक बातचीत करेंगे।
2- दोनों देशों के प्रधानमंत्री दक्षिणपंथी राष्ट्रवादी नेता हैं, जिन्हें जनता ने देश की आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए चुना है। दोनों ही देशों का चीन के साथ सीमा को लेकर विवाद है। जापान का मुख्य सहयोगी अमेरिका चीन की बढ़ती आर्थिक और सैन्य ताकत को लेकर चिंतित है। लिहाजा, नई दिल्ली और टोक्यो के बीच मजबूत होते संबंधों का अमेरिका भी स्वागत करेगा।
3- प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को एक बयान जारी कहा कि वह इसे एक बेहद अहम यात्रा के तौर पर देख रहे हैं। मोदी ने जापान को राजनीति, अर्थव्यवस्था, सुरक्षा और सांस्कृतिक क्षेत्र में करीबी और अहम सहयोगी बताया। उन्होंने उम्मीद जताई है कि एशिया की दो लोकतांत्रिक ताकतों की साझेदारी इस यात्रा से और भी उच्च स्तर तक जाएगी।
4- प्रधानमंत्री मोदी उद्योगपतियों के एक बड़े प्रतिनिधिमंडल के साथ यात्रा पर गए हैं। इनमें रिलायंस के मुकेश अंबानी और सॉफ्टवेयर कंपनी विप्रो के मुखिया अजीम प्रेमजी भी शामिल हैं। पीएम मोदी जापान से आधारभूत सुविधाओं में विकास के लिए सहयोग चाहते हैं।
5- भारत में हाई स्पीड ट्रेन ‘बुलेट’ और रेलवे के अन्य क्षेत्र में विकास मोदी की प्राथमिकताओं में शामिल है। प्रधानमंत्री इस क्षेत्र में जापान की मदद चाहते हैं। उम्मीद जताई जा रही है इस दिशा में किसी अहम समझौते होंगे और सहमति बनाने की कोशिश होगी।

1010_1

You must be logged in to post a comment Login