मार्स रोवर क्यूरोसिटी ने मंगल ग्रह पर ढूंढा खनिज का प्रथम नमूना

मार्स रोवर क्यूरोसिटी ने मंगल ग्रह पर ढूंढा खनिज का प्रथम नमूना

55559-mars (1)

 अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ने घोषणा की है कि नासा के मार्स रोवर क्यूरोसिटी ने मंगल ग्रह पर खनिज का प्रथम नमूना खोजा है। मंगल ग्रह पर मौजूद पर्वत पर क्यूरोसिटी द्वारा किए गए प्रथम सुराख से निकले लाल रंग के पाउडर ने वहां से मिले खनिज के नमूने की पुष्टि की है।पासडेना स्थित केलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के क्यूरोसिटी परियोजना वैज्ञानिक जॉन ग्रोत्जींगर ने कहा, यह हमें ‘आर्बिट’ से मिले खनिज से जोड़ता है, जो अब हमारी जांच को दिशानिर्देशित करने में मदद कर सकता है क्योंकि हम ऊपर बढ़ रहे हैं। साथ ही, ‘आर्बिटल मैपिंग’ से मिले अनुमानों की जांच होगी। क्यूरोसिटी ने सितंबर के आखिरी दिनों में माउंट शॉर्प के एक बेस पर एक चट्टान में सुराख कर पाउडर जमा किया था। रोबोटिक हाथों ने रोवर के अंदर स्थित केमिस्ट्री एंड मिनरोलॉजी (केमिन) उपकरण को नमूना प्रदान किया था।पाहरूम्प हिल्स के कॉंफीडेंस हिल्स से लिए गए इस नमूने में दो साल से चल रहे इस मिशन के दौरान केमिन द्वारा लिए गए किसी चट्टान या मिट्टी के नमूने से कहीं अधिक हेमाटाइट (लौह अयस्क) है। हेमाटाइट एक लौह अयस्क खनिज है जो इसके गठन से लेकर प्राचीन पर्यावरणीय परिस्थितियों के बारे में सुराग देता है। रोवर उतरने का स्थान गेल केट्रर है। जिसके केंद्र में पांच किलोमीटर उंचा माउंट शार्प है।रोड आइलैंड के प्रोवीडेंस स्थित ब्राउन विश्वविद्यालय के राल्फ मिलिकेन ने बताया कि हम क्रेटर के हिस्से में पहुंच गए हैं जहां हमारे पास खनिजविज्ञान सूचना है जो रोवर उतारने के लिए गेल क्रेटर के चयन में अहम थी। उन्होंने बताया, हम हम एक ऐसे रास्ते पर हैं जहां ‘आर्बिटल डेटा’ हमें यह अनुमान लगाने में मदद कर सकते हैं कि हम कौन कौन से खनिज पाएंगे और सुराख करने के बारे में अच्छे विकल्प मौजूद होंगे।

You must be logged in to post a comment Login