मांझी के मंत्रियों को रास नहीं आया कंप्यूटर ज्ञान

मांझी के मंत्रियों को रास नहीं आया कंप्यूटर ज्ञान

r sbx file jeetan majhi vo 1905 rm 01120402

पटना। बिहार में जीतन राम मांझी सरकार ने मंत्रियों को हाईटेक बनाने के लिए भले ही उन्हें कंप्यूटर का प्रशिक्षण देने की योजना बनाई हो, लेकिन यह उन्हें रास नहीं आ रहा। पटना में आयोजित कम्प्यूटर प्रशिक्षण में मंत्रियों की संख्या काफी कम थी। 32 मंत्रियों में से सिर्फ नौ मंत्री ही इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे। इनमें से भी चार मंत्री कार्यक्रम के उद्घाटन के बाद मुख्यमंत्री मांझी के साथ निकल गए। बिहार सरकार के सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि विभाग के निर्देश पर राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक एवं सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान की ओर से बुधवार को मंत्रियों को कंप्यूटर का प्रशिक्षण देने के लिए कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस कार्यक्रम में राज्य के सभी 32 मंत्रियों को भाग लेना था, लेकिन सिर्फ नौ मंत्री ही कंप्यूटर का ज्ञान प्राप्त करने पहुंचे। सूत्रों का कहना है कि एक मंत्री को छोड़कर किसी अन्य मंत्री ने लैपटॉप तक पहुंचने की कोशिश तक नहीं की, जबकि सेन्टर टेबल पर लैपटॉप के साथ प्रशिक्षक मौजूद थे। वैसे मुख्यमंत्री मांझी ने खुद के लिए इस प्रशिक्षण को काफीजरूरी बताया। मुख्यमंत्री ने कहा मैं तकनीकी व्यक्ति नहीं हूं, बिहार सरकार में अगर किसी को सबसे अधिक इसकी जरूरत है, तो वह मैं हूं। प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि तकनीकी ज्ञान और सूचना प्रौद्योगिकी के ज्ञान की आवश्यकता लगातार बढ़ती जा रही है। किसी भी स्तर के पदाधिकारी या कर्मचारी हो या राजनीतिक क्षेत्र के लोग सबको कम्प्यूटर, लैपटॉप, इंटरनेट की जानकारी होनी चाहिए। आज बिना सूचना प्रौद्योगिकी के सहयोग के हम विकास के लक्ष्य को नहीं पा सकते हैं। उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि वाई-फाई में हमने अन्य राज्यों की तुलना में ज्यादा विकास किया है और अन्य राज्यों से आगे हो गए हैं। इस मौके पर सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री शाहीद अली खान ने कहा कि कम्प्यूटर दक्षता उन्मुखीकरण सह प्रशिक्षण कार्यक्रम से बिहार को नई दिशा मिलेगी। सूचना प्रौद्योगिकी की आवश्यकता कितनी है लोग इसे जान सकेंगे। उन्होंने कहा कि अब साक्षरता की परिभाषा बदली है। अब साक्षर उसे ही कह सकते हैं जिसे कम्प्यूटर, इंटरनेट का भी ज्ञान हो। उन्होंने कहा कि विभाग की ओर से दूसरी बार मंत्रियों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया है।

You must be logged in to post a comment Login