महाराष्ट्र : शिवसेना ने बीजेपी को शनिवार तक का अल्टीमेटम दिया

महाराष्ट्र : शिवसेना ने बीजेपी को शनिवार तक का अल्टीमेटम दिया

shivsena

सरकार में शामिल होने पर अब बीजेपी और शिवसेना में जारी खींचतान निर्णायक दौर में पहुंच गया है। शिवसेना ने बीजेपी को शनिवार तक का अल्टीमेटम दिया है और साथ ही मंत्रिपद को लेकर अपनी शर्ते भी बता दी हैं। शिवसेना ने साफ कर दिया है कि अगर तय वक्त में उसकी शर्तें नहीं मानी गईं तो वो विपक्ष में बैठेगी और विश्वासमत के दौरान बीजेपी के खिलाफ वोट करेगी। लेकिन बीजेपी शिवसेना के आगे घुटने टेकते नजर नहीं आ रही।

शिवसेना ने बीजेपी को 8 नवंबर तक का अल्टीमेटम दे दिया है। पार्टी ने बीजेपी से साफ कह दिया है कि सरकार में शामिल करने को लेकर उसने अब शिवसेना को बहुत लटका लिया अब और नहीं। पार्टी ने साफ कर दिया है कि 8 नवंबर तक बीजेपी ये साफ कर दे कि वो उसे सरकार में शामिल करना चाहती है या नहीं।

अगर उसे शिवसेना का साथ चाहिए तो शनिवार तक बीजेपी तमाम चीजें साफ कर दे। सूत्रों के मुताबिक शिवसेना ने शर्त रखी है कि शिवसेना का उपमुख्यमंत्री हो। उपमुख्यमंत्री के अलावा 10 मंत्रीपद भी मिले। इसमें कम से कम 5 कैबिनेट मंत्री हो। उपमुख्यमंत्री का पद नहीं देने की हालत में शिवसेना को 12 मंत्रीपद मिले जिसमें 6 कैबिनेट मंत्री हों।

यही नहीं शिवसेना ने बीजेपी को ये भी कहा है कि इन मांगों के साथ साथ विश्वासमत से पहले शिवसेना के दो नेताओं को मंत्रीमंडल में शामिल किया जाए। वहीं बीजेपी के मुख्यमंत्री फडणवीस पर शिवसेना के दबाव का असर होता नहीं दिख रहा, उन्होंने साफ कर दिया है कि विश्वासमत से पहले मंत्रिमंडल का विस्तार नहीं होगा। फड़णवीस ने कहा कि पहले विश्वासमत फिर मंत्रिमंडल विस्तार, शिवसेना से हमारी बातचीत सही दिशा में हो रही है। डेडलाइन के बारे में मुझे कुछ और नहीं कहना।

सूत्रों के मुताबिक बीजेपी किसी को उपमुख्यमंत्री नहीं बनाएगी। रही बात मंत्रियों की तो वो शिवसेना को 8 से ज्यादा मंत्रीपद नहीं देना चाहती। 10 नवंबर से महाराष्ट्र विधानसभा का विशेष सत्र शुरू हो रहा है। 12 नवंबर को बीजेपी को विधान सभा में बहुमत साबित करना है।

You must be logged in to post a comment Login