भैंसों की भगदड़ में शेर की मौत

भैंसों की भगदड़ में शेर की मौत

aaaaकभी-कभी जंगल का राजा शेर भी असहाय हो जाता है और जिन भैंसों का वह शिकार करता है, उन्हीं भैंसों का झुंड उसे कुचलकर मार देता है। इससे भी बड़ी आश्चर्य की बात यह है कि आपने अभी तक शहर की सभाओं, तीर्थस्थलों आदि में भगदड़ की खबरें पढ़ी होंगी पर क्या जंगल में भी भगदड़ मचती है? जी हां, झुंड में चलने वाले कई जानवर अक्सर जंगल में भगदड़ मचा देते हैं, जिससे कभी-कभी दूसरे जानवरों को भी नुकसान सहना पड़ जाता है। 
 

ऐसे ही एक मामले में एक असहाय शेर को भैंसों के एक झुंड ने कुचलकर मार डाला। यह मामला दक्षिण अफ्रीका के क्रूगर नेशनल पार्क का है। इस घटना का शिकार हुए शेर को उसके समूह द्वारा बेदखल कर दिया गया और इस कारण समूह से बेदखल और एक लड़ाई में घायल यह शेर एकांत में जाकर घास में सुस्ता रहा था कि जंगली भैंसों के एक बड़े से समूह की नजर इस शेर पर पड़ गई। शेर की गंध पाकर सभी भैंस उसकी ओर दौड़ पड़ी।

 

खतरे को भांपकर शेर ने उस स्थान से भागना चाहा पर पहले से ही किसी लड़ाई में घायल शेर की रफ्तार बेहद धीमी थी। कुछ ही देर में भैंसो का झुंड उसके बिल्कुल करीब पहुंच गया और अगले ही क्षण शेर की खोपड़ी भैंसों के पावों के नीचे फुटबॉल बन चुकी थी। भैंसों के पांवों से कुचलकर शेर की मौत हो गई।

 

द डेलीमेल ऑनलाइन में जेनिफर न्यूटन लिखती हैं कि इस घटना की तस्वीरें मौके पर मौजूद फोटोग्राफर लियल ग्रेग ने कैद की हैं। 37 वर्षीय ग्रेग का कहना है कि, यह शेर जिस झुंड से ताल्लुक रखता था उसे मैं दो साल से भी अधिक समय से जानता था। एक दिन पहले ही इस शेर की पांच अलग-अलग समूहों के शेरों के साथ लड़ाई हुई थी, जिसके बाद इसे अपना समूह छोड़ना पड़ा था। हम पहले ही इस शेर के लिए फिक्रमंद थे।

 

दो दर्जन से अधिक भैंसो का इस झुंड का आक्रमण लगातार था और पहले तो उन्होंने शेर को बुरी तरह जख्मी कर जमीन पर गिरा दिया और उसके बाद एक बड़ा भैंसा उसे सिर पर चढ़ गया जिससे कि उसकी जान निकल गई। क्रूगर नेशनल पार्क, दक्षिण अफ्रीका के प्रबंधन ने स्वीकार किया है कि भैंसों के एक हमले में घायल शेर की मौत हो गई है। 

You must be logged in to post a comment Login