भारत के नक्शे से कश्मीर का एक हिस्सा गायब दिखाने पर ऑस्ट्रेलिया ने मांगी माफी और जी-20 सम्मेलन में ब्लैकमनी पर चर्चा आज

भारत  के नक्शे से कश्मीर का एक हिस्सा गायब दिखाने पर ऑस्ट्रेलिया ने मांगी माफी और जी-20 सम्मेलन में ब्लैकमनी पर चर्चा आज

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई में भारत जी-20 सम्मेलन में शिरकत करने को तैयार है।यह सम्मेलन ऑस्ट्रेलिया में हो रहा है| 15 नवम्बर को क्वींसलैंड यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी में एक प्रेजेंटेशन के दौरान भारत का गलत नक्शा दिखाया गया। नक्शे से कश्मीर का एक हिस्सा ही गायब कर दिया गया था। प्रेजेंटेशन के वक्त पीएम मोदी वहीं मौजूद थे, लेकिन उन्होंने कुछ भी नहीं कहा। हालांकि, विदेश सचिव सुजाता सिंह ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई। ऑस्ट्रेलिया ने बाद में इस गलती के लिए माफी मांग ली। गौरतलब है कि दुनिया की 20 सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के इस संगठन में वैश्विक विकास के लिए अहम फैसले लिए जाएंगे। इस अधिवेशन में जी-20 देशों के कुल विकास दर में 2 फीसदी का इजाफा करने की तैयारी है। पिछले 28 सालों में पहली बार कोई भारतीय प्रधानमंत्री इस सम्मेलन में हिस्सा ले रहा है। इससे पहले सन् 1986 में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी इसमें शामिल हुए थे।

शनिवार को सम्मेलन शुरू होने से पहले मोदी ने ब्रिक्स देशों की मीटिंग में काले धन का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि विदेशों में जमा असीमित धन वापस लाने के लिए सहयोग हमारी पहली प्राथमिकता है। बैठक को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, “बिना हिसाब का काला धन विदेशों में जमा है, जिसे वापस लाना हमारी प्राथमिकता है।” उन्होंने कहा कि काले धन का मुद्दा आधुनिक समाज की सुरक्षा चुनौतियों से संबंधित है।18 नवंबर को प्रधानमंत्री कैनेबरा भी जाएंगे, जहां ऑस्ट्रेलियाई पार्लियामेंट में एक खास संयुक्त बैठक को संबोधित करेंगे। फिजी जाने से पहले वो मेलबर्न में आयोजित एक समारोह को भी संबोधित करेंगे।

You must be logged in to post a comment Login