भाजपा के पास बहुमत है, अयोध्या में राम मंदिर बनाने का वादा पूरा करे: VHP

भाजपा के पास बहुमत है, अयोध्या में राम मंदिर बनाने का वादा पूरा करे: VHP

ashok-singhal

इलाहाबाद : विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने आज मांग की कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व के तहत संसद में भाजपा को अपने दम पर बहुमत हासिल है इसलिए भगवा पार्टी विवादित स्थल पर राम मंदिर के निर्माण को आगे बढ़ाकर अयोध्या मुद्दे पर अपने वादे को पूरा करे।

विहिप नेता अशोक सिंघल ने यहां संवाददाताओं से कहा, जब 1999-2004 के दौरान भाजपा सत्ता में थी तो तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी राममंदिर के निर्माण को आगे बढ़ाने में अपनी अक्षमता को स्पष्ट करने के दौरान गठबंधन की मजबूरियों का हवाला दिया करते थे।

उन्होंने कहा, नरेंद्र मोदी की उस तरह की कोई बाध्यता नहीं है। उनकी सरकार में अन्य पार्टियों के लोग हो सकते हैं लेकिन तथ्य यह है कि उनके नेतृत्व में भाजपा को पूर्ण बहुमत मिला है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार को अब इस मुद्दे का समाधान करने के लिए अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करना चाहिए जो न्यायिक हस्तक्षेप के कारण काफी विलंबित हो चुका है।

उन्होंने कहा, विहिप ने हमेशा कहा है कि अदालतें आस्था के विषयों का समाधान नहीं कर सकती हैं और सरकार को इस संबंध में संसद में एक कानून पारित कराकर श्री रामजन्मभूमि पर मंदिर निर्माण को सुगम बनाना चाहिए।

सिंघल का बयान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के इस बात की उम्मीद जताने के कुछ दिनों बाद आया है जिसमें कहा गया था कि केंद्र राम मंदिर के मुद्दे को गंभीरता से लेगा। आरएसएस को संघ परिवार का शीर्ष संगठन माना जाता है।

यद्यपि मोदी हाल-फिलहाल में अयोध्या मुद्दे पर कोई भी बयान देने से बचते रहे हैं लेकिन पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह समेत पार्टी के कई नेता कह चुके हैं कि पार्टी श्री रामजन्मभूमि पर राम मंदिर के निर्माण को लेकर प्रतिबद्ध है।

विहिप के पूर्व अध्यक्ष और मोदी के जबर्दस्त समर्थक सिंघल ने मुस्लिम समुदाय से अपील की कि ‘वह आगे आए और बहुसंख्यक समुदाय के साथ सहयोग करे। जब मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री हुआ करते थे तो सिंघल प्रेम से उन्हें हिंदू हृदय सम्राट कहकर पुकारा करते थे।

सिंघल ने कहा, मुस्लिमों को यह समझना चाहिए कि हिंदुओं का अयोध्या, काशी और मथुरा के अलावा उनके साथ कोई मुद्दा नहीं है। अगर वे इन पवित्र शहरों में हिंदुओं के पूजन स्थल पर अपने गलत दावे को खुद से त्याग देंगे और इन विवादित स्थलों पर अपनी धार्मिक गतिविधियां चलाने के बहुसंख्यक समुदाय के अधिकार को स्वीकार करेंगे तो वे देश की बड़ी सेवा करेंगे।

You must be logged in to post a comment Login