भाजपा और शिवसेना का 25 साल पुराना गठबंधन टूटा

भाजपा और शिवसेना का 25 साल पुराना गठबंधन टूटा
मुंबई. महाराष्ट्र में बीजेपी ने शिवसेना से 25 साल पुराना गठबंधन तोड़ दिया है। गुरुवार को मुंबई में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस बात का एलान कर दिया। बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि शिवसेना मुख्यमंत्री की कुर्सी को लेकर अड़ी हुई थी। उनके मुताबिक शिवसेना ने कई प्रस्ताव दिए, लेकिन उनमें से किसी में भी उनके हिस्से की सीटों में कमी नहीं आ रही थी। हर बार या तो हमारी सीटें कम हो रही थीं या हमारे सहयोगी दलों की। फडणवीस ने कहा कि चुनाव प्रचार के दौरान उनकी पार्टी शिवसेना पर हमले नहीं करेगी और शिवसेना से वे भी ऐसी ही उम्मीद कर रहे हैं। बीजेपी की ओर से इस एलान के तुरंत बाद ही शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे के घर यानी मातोश्री के बाहर बड़ी संख्या में इकट्ठा हुए शिवसैनिकों ने अपनी पार्टी के पक्ष में जिंदाबाद के नारे लगाए। शिवसेना के सांसद आनंदराव अडसूल ने दावा किया है कि बीजेपी और एनसीपी के बीच सांठगांठ है। इस बीच, अभी यह साफ नहीं है कि केंद्र में एनडीए सरकार में मंत्री अनंत गीते अपना पद छोड़ेंगे या नहीं।
इससे पहले शिवसेना ने गुरुवार को धमकी भरे लहजे में कहा था कि अगर बीजेपी ने दूसरा रास्ता (गठबंधन तोड़ने का) अपनाया तो उन्हें मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा। शिवसेना नेता दिवाकर राउते ने दावा किया कि उनकी पार्टी सहयोगियों को सीटें देने के लिए 148 सीटों पर चुनाव लड़ने को तैयार हो गई थी, लेकिन उस पर सहयोगी पार्टियां और बीजेपी राजी नहीं हुई।
बीजेपी-शिवसेना पर लगाया था आरोप
शिव संग्राम सेना के अध्यक्ष विनायक मेटे, राष्ट्रीय समाज पार्टी के अध्यक्ष महादेव जानकर और स्वाभिमानी शेतकरी संगठन के अध्यक्ष राजू शेट्टी ने बीजेपी और शिवसेना पर आरोप लगाते हुए कहा था कि दोनों दलों ने विश्वासघात किया है। इन नेताओं ने कहा कि अगर उन्हें सम्मानजनक सीट नहीं दी गई तो  महायुति (गठबंधन) से अलग हो कर तीनों पार्टियां एक साथ मिल कर चुनाव लड़ेंगी। shiv sena

You must be logged in to post a comment Login