भागलपुर में मतदाताओं ने दिखाई उदासीनता

भागलपुर में मतदाताओं ने दिखाई उदासीनता

21_08_2014-e6

भागलपुर: गुरुवार को भागलपुर, बांका व खगडि़या में छिटपुट घटनाओं को छोड़ कर शांतिपूर्ण मतदान संपन्न हो गया। भागलपुर में शाम चार बजे तक 35 फीसद मतदान की सूचना है। वहीं खगड़िया व बांका के नक्सल प्रभावित क्षेत्र होने के कारण यहां शाम चार बजे तक ही वोट डाले गए। खगड़िया में शाम चार बजे तक 60 फीसद से अधिक व बांका में 45 फीसद वोट डाले गए। जानकारी के अनुसार भागलपुर में शुरुआती एक घटे लिए मतदान में तेजी आई। लेकिन, दो बजे के बाद फिर से मतदाता नरम पड़ गए। सुबह आठ बजे तक मात्र पांच प्रतिशत ही मतदान हो पाया है। नौ बजे छह प्रतिशत, 10 बजे 10 प्रतिशत, 11 बजे 13.25 प्रतिशत, 12 बजे 22.18 प्रतिशत, एक बजे तक 23 प्रतिशत, दो बजे तक 30 प्रतिशत व तीन बजे तक मात्र 32 प्रतिशत ही मतदान हो पाया था। बूथ संख्या दो पर अधिकतम दो बजे तक 34 प्रतिशत व 34 पर न्यूनतम 16 प्रतिशत मतदान होने का समाचार है। मतदान का समय दो घटे शेष रहने व मतदाताओं को घर से निकलते नहीं देख पार्टी नेताओं के द्वारा अपने-अपने मतदाताओं को घर से निकालने के प्रयास तेज कर दिए। दो-चार बूथों को छोड़कर कहीं भी लाइन नहीं दिख रही है। नाथनगर के बूथ नंबर 136 पर 28 व बूथ संख्या 160 पर 26.4 प्रतिशत मतदान होने का समाचार है। बड़ी खंजरपुर स्थित बूथ संख्या 72, 72ए व 73 पर सुबह सात बजे से दोपहर 12 बजे तक मतदाताओं की लंबी लाइन देखी गई। मतदान केंद्र संख्या 186, 51 व 52 पर इवीएम की खराबी के कारण विलंब से मतदान शुरू हुआ। जबकि बूथ संख्या 121 पर नाला-पानी व वार्ड नंबर 44 व 45 पर पानी संकट के विरोध में मतदान का बहिष्कार किए जाने की सूचना है। बूथ संख्या 115 पर मतदाताओं की संख्या 1592 है, जबकि 11.30 बजे तक मात्र 188 मतदाताओं ने ही वोट डाले। बूथ संख्या 116 पर 1469 मतदाताओं ने 11.40 बजे तक 157 मत डाले थे। बूथ 136 पर 11.10 बजे तक 641 में मात्र 83 मत पड़े थे। बूथ 225 पर 1012 में 20, 222 पर 1128 में 22, 281 में 851 में 24, 285 में 1183 में 40, 268 में 874 में 39, 262 में 1493 में 107 वोट डाले गए थे। लोकेशन चलंत मतदान केंद्र संख्या 212 व 213 पर टेंट के अंदर मतदान की व्यवस्था थी। ऑबजर्वर इस व्यवस्था से खिन्न दिखे। मैदान पर घर-फूस देखकर उन्होंने नाराजगी जाहिर की। माइक्रो ऑब्जर्वर मुकेश कुमार का कहना है कि बूथ ऐसी-ऐसी जगहों पर बनाए गए हैं जिन्हें खोजने में काफी समय लग जाता है। सुबह से ही यहा इस तरह की परेशानी थी। बूथ नंबर पाच व छह जो वार्ड नंबर एक में बनाए गए थे, वहा वार्ड नंबर चार के मतदाताओं को मत डालना था। लेकिन एक किलोमीटर से अधिक की दूरी होने के कारण मतदाताओं ने मतदान में रुचि नहीं दिखाई। बूथ संख्या 61 व 62 पर मतदाताओं की भीड़ नहीं के बराबर दिखी। सुदर्शन पब्लिक स्कूल स्थित बूथ संख्या 186 पर एक घटे विलंब से मतदान शुरू हुआ। केंद्रीय कारा मध्य विद्यालय स्थित बूथ संख्या 63 पर दोपहर एक बजे तक 1234 में मात्र 234 ही मत पड़े थे। दूरी अधिक होने के कारण मतदाताओं ने मतदान में रुचि नहीं दिखाई। सर्वोदय प्राथमिक विद्यालय स्थित बूथ संख्या 64 व 65 पर दोपहर दो बजे तक मात्र 350 व 450 मत ही डाले गए थे, जबकि मतदाताओं की संख्या 16 सै व 1274 है। दस मतदान केंद्रों पर पहली बार सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे।

वहीं बांका विधानसभा उप चुनाव का मतदान गुरुवार सुबह सात बजे से शांतिपूर्ण माहौल में प्रारंभ हुआ। शाम चार बजे तक 45 फीसद मतदान की सूचना है। मतदान केंद्र संख्या 19 मध्य विद्यालय डोमाखांड में ग्रामीणों ने सड़क के लिए मतदान का बहिष्कार कर दिया। यहां 581 मतदाता हैं। इसके अलावा फुल्लीडुमर, चिलमिल, हिजरार में भी बहिष्कार की तैयारी थी। पर बाद में वहां मतदान करा लिया गया। ढाका, लाढोमाटी व लक्ष्मीपुर बूथ पर ईवीएम में गड़बड़ी के कारण विलंब से मतदान शुरू हुआ। मतदान को लेकर सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम दिखा। बड़ी संख्या में केंद्रीय बलों की तैनाती के अलावा सड़कों पर पुलिस गश्त भी तेज रही। वैसे सुबह से ही मतदान का फीसद काफी सुस्त चल रहा था। मतदाताओं में उपचुनाव को लेकर खास दिलचस्पी नहीं दिखी। शहरी क्षेत्र के मतदाताओं का रूझान भाजपा की ओर दिखा। क्षेत्र के दक्षिणी और मध्य हिस्से में राजद को अधिक वोट पड़ रहा था। दोनों दलों के बीच सीधे मुकाबले की तस्वीर दिख रही है। कुछ जगहों पर निर्दलीय मनोज सिंह चंद्रवंशी और अली इमाम को भी वोट पड़ता दिखा। शाम चार बजे मतदान समाप्त हो जाएगा। कम मतदान फीसद के कारण परिणाम चौंकाने वाला भी हो सकता है।

खगड़िया के परबत्ता में शाम चार बजे तक 60 फीसद तक मतदान दर्ज किया गया। मतदान शुरूहोने के बाद एक बूथ पर ईवीएम बदलना पड़ा। बूथ संख्या 200, 228, 147, 38, 87 पर मतदान शुरू होने से पहले ही इवीएम बदल दिया गया। निर्वाची पदाधिकारी सह एसडीओ संतोष कुमार के अनुसार इवीएम का लिंक फेल था तथा बैट्री लो बता रही थी। इस कारण मतदान से पहले ही पांच बूथों पर ईवीएम बदल दिया गया। वहीं बूथ संख्या 113 पर मतदान शुरू होने के बाद इवीएम बंद हो गया। इसे 20 मिनट के अंदर बदल दिया गया।

You must be logged in to post a comment Login