भागलपुर और बांका से 38 बच्चे लापता

भागलपुर और बांका से 38 बच्चे लापता

भागलपुर: भागलपुर और बांका जिले से बच्चों की तस्करी हो रही है. पिछले कुछ महीनों में 38 बच्चे दोनों जिलों से लापता हुए हैं. बड़ी बात यह है कि सभी मामले में पुलिस रिपोर्ट तो दर्ज करती है लेकिन एक भी बच्चों का अब तक पता नहीं चल पाया है.

इस पर डीआइजी ने संज्ञान लिया और लापता बच्चों को खोजने का निर्देश दोनों जिले के एसएसपी-एसपी को दिया है. डीआइजी ने कहा है कि अगर बच्चे नहीं मिल रहे हैं तो जांच कर तुरंत एफआइआर दर्ज करें. इस संबंध में अपराध अनुसंधान विभाग ने भी विस्तृत जानकारी मांगी है. डीआइजी के पत्र के मुताबिक भागलपुर जिले से 8 और बांका जिले से 30 बच्चे लापता हैं. इनका कोई अता-पता नहीं है. इस कारण दोनों जिलों में लापता और अपहृत बच्चों के कुल 38 मामले लंबित पड़े हैं.

आइजी ने एक सप्ताह में मांगी रिपोर्ट

images (8)

जोनल आइजी बीएस मीणा ने भी इस संबंध में डीआइजी, भागलपुर एसएसपी और बांका एसपी से विस्तृत रिपोर्ट तलब किया है. डीआइजी ने दोनों एसएसपी-एसपी से कहा है कि प्रतिवेदन तैयार कर एक सप्ताह के भीतर जोनल आइजी को रिपोर्ट भेजें. आइजी-डीआइजी का निर्देश मिलते ही भागलपुर एसएसपी विवेक कुमार ने संबंधित थानों को निर्देश दिया है कि लापता बच्चों की फिर से खोजबीन शुरू करें. संबंधित अनुमंडल के डीएसपी इन मामलों की मॉनीटरिंग करें.

पहले करें जांच, फिर एफआइआर
डीआइजी संजय सिंह ने कहा कि दोनों जिले के एसएसपी और एसपी को निर्देश दिया गया है कि लापता/अपहृत बच्चों के मामले में पहले प्रपत्र 221 व 222 भरें. इस प्रपत्र के भरने के बाद लापता बच्चों की खोजबीन और बारीकी से मामले की जांच करें. अगर जांच में कोई सं™ोय अपराध का मामला निकलता है, तो संबंधित थाने में तत्काल प्रथम इत्तिला रिपोर्ट दर्ज करें.

केस-1

25 नवंबर को अधीर मिश्र लेन, नाथनगर से लापता हुए किशोर मो नाहिद (12) का अब तक पता नहीं चल पाया है. नाहिद के पिता निसाद जबी उर्फ लाली कई बार एसएसपी को आवेदन देकर अपने पुत्र की बरामदगी की गुहार लगा चुके हैं. पिता के मुताबिक 25 नवंबर 2013 से नाहिद घर के दरवाजे से गायब हो गया था. वह चंपानगर स्थित उर्दू मध्य विद्यालय में चौथी कक्षा का छात्र है.

केस-2

तिलकामांझी, मुंदीचक से चौथी कक्षा का लापता छात्र मोहित कुमार (12) का अब तक सुराग नहीं मिल पाया है. पांच मार्च को वह घर से ट्यूशन जाने के लिए निकला था. इसके बाद से मोहित गायब है. मोहित मूलत: रहमतपुर का रहने वाला है. मुंदीचक स्थित अपने मामा वाणिज्य कर विभाग के कर्मी राकेश कुमार के यहां रह कर डिवाइन हैप्पी स्कूल में पढ़ाई करता है. अंतिम बार मोहित सुल्तानगंज स्टेशन पर देखा गया था.

You must be logged in to post a comment Login