सीएम जीतनराम मांझी का भ्रष्टाचार पर बयान

सीएम जीतनराम मांझी का भ्रष्टाचार पर बयान

jitan+ram_majhi

नई दिल्ली: बिहार में भ्रष्टाचार का मामला आज संसद में उठाया गया. परसों बिहार के गया के एक कार्यक्रम में बिहार के मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा था कि बिहार में नीतीश के राज में भले ही विकास हुआ है लेकिन भ्रष्टाचार तब भी कम नहीं हुआ था. संसद में औरंगाबाद के सांसद सुशील कुमार सिंह ने भ्रष्टाचार का ये मुद्दा उठाया.

क्या था मामला?

बिहार के मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने ये कहकर सनसनी मचा दी कि कुछ वक्त पहले जब वो नीतीश राज में मंत्री थे, खुद उनको 25 हजार के बिजली बिल का पांच हजार में सेटलमेंट करवाना पड़ा था.

मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने स्वीकार किया कि हाल के वर्षों में सूबे में भ्रष्टाचार तेजी से बढ़ा है.

उन्होंने कहा, ”मैं खुद मंत्री रहते इसका शिकार हुआ. उन्होंने आपबीती सुनाते हुए कहा कि गया स्थित उनके घर का बिजली बिल हर महीने पांच हजार रुपए आता था. एक महीने बिल 25 हजार रुपए आ गया. फिर बेटे को बिजली विभाग के अफसरों के पास भेजा और 25 हजार रुपए के बिल का सेटलमेंट पांच हजार रुपए में किया.

जीतनराम मांझी के इस बयान के बाद काफी बवाल हुआ था.

You must be logged in to post a comment Login