जब भी आता हूं, बहुत मोहब्बत मिलता है : आमिर

जब भी आता हूं, बहुत मोहब्बत मिलता है : आमिर

  बिहार तीसरी बार आ रहा हूं। यहां जब भी आता हूं, बहुत मोहब्बत मिलता है। यहां आकर जज्बाती हो जाता हूं। पिछली बार गहलौर का प्यार देखकर जज्बाती हो गया था। झूठ नहीं बोलूंगा, यहां की भोजपुरी बहुत खूबसूरत जुबान है। ये बातें अभिनेता आमिर खान ने कही। शनिवार को अपनी फिल्म ‘पीके’ के प्रोमोशन के लिए वे पी एंड एम मॉल पहुंचे थे। फिल्म 19 दिसंबर को रिलीज हो रही है।

पीके भोजपुरी बोलता है
उन्होंने कहा कि पिछले पांच साल से बन रही फिल्म एक युवक पीके की कहानी है, जो भोला इंसान हैं और भोजपुरी बोलता है। इसलिए फिल्म के प्रोमोशन के लिए मैंने बिहार को ही चुना। मैं आरा भोजपुर भी जाना चाहता था, मगर प्रशासन ने इजाजत नहीं दी। अपने 25 साल के कॅरियर में सबसे मुश्किल किरदार इस फिल्म में निभाया है। सारी फिल्में एक तरफ पीके का किरदार एक तरफ।

घंटों खड़े रहे फैन्स
आमिर खान की एक झलक के लिए सुबह 10.30 बजे से ही पी एंड एम मॉल के सामने फैन्स खड़े थे। फ्लाइट देरी के कारण दोपहर 12.15 की बजाय करीब दो बजे आमिर मॉल पहुंचे। काली जिंस-टी-शर्ट व ब्राउन जैकेट पहने जब वे पहुंचे, तब उनके फैन्स का हुजूम चरम पर था। करीब दो घंटे तक वे मॉल के अंदर रहे और बाहर उनके फैन्स बेकरार रहे। आखिर में करीब सवा चार बजे आमिर मॉल की छत पर चढ़े व हाथ हिलाकर दर्शकों का उत्साह बढ़ाया। फिर वाराणसी के लिए रवाना हो गए।लिट्टी खाकर फिर प्लेट ले गए
मॉल से निकलने के बाद आमिर खान एयरपोर्ट जाते समय चिड़ियाखाना गेट नंबर एक के पास रुके और लिट्टी खाने पहुंच गए। 25 अप्रैल 2012 में भी सत्यमेव जयते के लिए जब बिहार आए थे तब बिहारी राय की दुकान पर ही लिट्टी खाई थी। पिछली बार की तरह इस बार भी वे प्लेट ले गए। रूकनपुरा के बिहारी राय कहते हैं कि हमने आमिर से कहा कि प्लेट तो ले ही जा रहे हैं, हमको कब ले जाएंगे। इस पर आमिर हंसने लगे।

यह भी कहा
– जीतन राम मांझी के बारे में मुझे अंदाजा नहीं है, इसलिए कुछ नहीं बोलूंगा
– पीके का पहलेवाला पोस्टर विवाद के लिए नहीं, बल्कि फिल्म के की-आर्ट को ध्यान में रखकर था
– फिल्म के लिए मैंने बिहार के शांतिभूषण जी से भोजपुरी सीखी
– पीके भोजपुरी बोले, इसका सुझाव मैंने दिया था
– बढ़िया कहानी मिली तो तीनों खान एक साथ फिल्म करेंगे
– सलमान खान की शादी के बारे में लुकमान हकीम भी नहीं बता सकता

You must be logged in to post a comment Login