‘बाबा’ के सामने बौनी हैं भारतीय ई-कॉमर्स फर्में,

‘बाबा’ के सामने बौनी हैं भारतीय ई-कॉमर्स फर्में,
'बाबा' के सामने बौनी हैं भारतीय ई-कॉमर्स फर्में,
चीन की ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा ग्रुप होल्डिंग्‍स ने दुनिया के आईपीओ इतिहास में नया रिकॉर्ड बनाया है। शुक्रवार को बहुप्रतीक्षित अलीबाबा का आईपीओ बाबा सिंबल के तहत लिस्‍ट हुआ। न्‍यूयॉर्क स्‍टॉक एक्‍सचेंज पर इस चीनी ई-रिटेल कंपनी का शेयर 92.7 डॉलर पर खुला, जबकि कंपनी ने लिस्‍ट होने से पहले अपने आईपीओ की कीमत 68 डॉलर प्रति शेयर तय की थी। 68 डॉलर की प्राइस पर अलीबाबा ने 32 करोड़ शेयर जारी कर 21.7 अरब डॉलर की राशि जुटाई है। यदि 4.8 करोड़ अतिरिक्‍त शेयर के अंडरराइट प्रक्रिया को मंजूरी मिल जाती है तो रकम का यह आंकड़ा 25 अरब डॉलर के करीब पहुंच जाएगा। इससे यह 2010 में चाइना एग्रीकल्‍चरल बैंक द्वारा आईपीओ के जरिये जुटाए गए 22.1 अरब डॉलर के रिकॉर्ड को भी तोड़ देगा।
किसका कितना मार्केट कैप
कंपनी
मार्केट कैप (अरब डॉलर में)
ईबे
65
अमेजॉन
153
वालमार्ट
248
अलीबाबा
231.4
कमाई में भी आगे
31 मार्च 2014 को समाप्‍त वित्‍त वर्ष में अलीबाबा ने 3.7 अरब डॉलर की कमाई की, जो कि ईबे और अमेजॉन की संयुक्‍त कमाई से भी ज्‍यादा है। शुक्रवार को अमेजॉन की मार्केट वेल्‍यू 153 अरब डॉलर है, जबकि ईबे की मार्केट वैल्‍यू 65 अरब डॉलर है, इन दोनों की तुलना में अलीबाबा की मार्केट वैल्यू 231.4 अरब डॉलर है।
भारतीय कंपनियां हैं बौनी
अलीबाबा के सामने भारतीय ई-रिटेल कंपनियां अभी बहुत छोटी हैं। वैल्‍युशन के तौर पर देखें तो भारत की सबसे बड़ी ऑनलाइन रिटेल कंपनी फ्लिपकार्ट का मार्केट वैल्‍युएशन 5 अरब डॉलर (तकरीबन 30,000 करोड़ रुपए) है। वहीं फ्यूचर ग्रुप का मार्केट कैप 2775 करोड़ रुपए है। स्नैपडील का वैल्युएशन 1 अरब डॉलर (तकरीबन 6,000 करोड़ रुपए) है

You must be logged in to post a comment Login