पेट्रोल 65 पैसे सस्ता, डीजल की कीमत पर फैसला टला

पेट्रोल 65 पैसे सस्ता, डीजल की कीमत पर फैसला टला

petrol

 

सरकार ने पेट्रोल की कीमतों में 65 पैसे/लीटर की कमी की है। मंगलवार आधी रात से पेट्रोल 65 पैसे सस्ता मिलेगा। इसके अलावा बिना सब्सिडी वाले सिलिंडर की कीमत भी 21 रुपए घटाई गई है। हालांकि डीजल पर फैसला टाल दिया गया है। सूत्रों का कहना है कि नरेंद्र मोदी के अमरीका दौरे से वापस लौटने के बाद ही डीजल की कीमत में कमी का फैसला किया जाएगा।
अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के सस्ता होने से तेल कंपनियों को खुदरा मूल्य और आयातित मूल्य में अंतर से जो नुकासान हो रहा था, वह समाप्त हो गया है और 16 सितंबर से कंपनियों को 35 पैसे प्रति लीटर का लाभ हो रहा है। यह अब बढ़कर करीब एक रुपए लीटर हो गया है।

सूत्रों के अनुसार पेट्रोलियम मंत्रालय का विचार है कि मंत्रिमंडल की राजनीतिक मामलों की समिति (सीसीपीए) ने डीजल की बिक्री पर कंपनियों के नुकसान की भरपाई के लिए डीजल के दाम में 40 से 50 पैसा प्रति महीना वृद्धि किये जाने को अनुमति 17 जनवरी 2013 को दी थी लेकिन उस समय लाभ की स्थिति की परिकल्पना नहीं की गयी थी। सरकार सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियों की बाजार हिस्सेदारी बनाये रखने के लिए डीजल के दाम में कटौती चाहती है क्योंकि निजी क्षेत्र की खुदरा कंपनियां अंतरराष्ट्रीय मूल्य के अनुरूप डीजल बेचकर लाभ ले सकती हैं।

ऐसा समझा जाता है कि पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस स्थिति के बारे में पत्र लिख चुके हैं। साथ ही मंत्रालय ने महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनावों के मद्देनजर चुनाव आयोग को पत्र लिखकर ईंधन के दाम घटाए जाने की अनुमति मांगी है। सूत्रों के अनुसार मोदी के लौटने के बाद इस आशय का निर्णय होगा। डीजल का दाम अगर घटता है तो पांच साल में यह पहला मौका होगा। पिछली बार 29 जनवरी 2009 को डीजल के दाम में 2 रुपये/लीटर की कटौती की गई थी। उस समय डीजल का दाम 30.86 रुपये प्रति लीटर था।

You must be logged in to post a comment Login