पूरा हुआ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अमेरिका दौरा

पूरा हुआ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अमेरिका दौरा
Narender modi usa visit end
वॉशिंगटन. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारती वापसी के लिए वाशिंगटन से उड़ान भर ली है। अपने पांच दिन के अमेरिका दौरे में मोदी दो दिन वॉशिंगटन में रहे। दोनों दिन राष्ट्रपति आेबामा से मिले। पहले दिन डिनर पर दूसरे दिन आिधकारिक बातचीत के लिए। दोनों नेता कारोबार और रक्षा समेत कई मसलों पर साथ काम करने को राजी हुए। पर सबसे चौंकाने वाला कदम रहा अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन पोस्ट के लिए साझा संपादकीय लिखना। इसमें दोनों नेताओं ने कहा कि भारत-अमेरिका की साझेदारी दुनिया को वर्षों तक शांति देती रहेगी। इसमें विवेकानंद, बापू, वाजपेयी से मार्टिन लूथर किंग तक का जिक्र है। और यह ‘चलें साथ-साथ’ के साझे वादे पर खत्म होता है। विदेश विभाग ने इसे ‘डिजिटल डिप्लोमेसी’ की शुरुआत बताया है।
आखिरी दिन डेढ़ घंटे की बात, कई वादे
  1. कारोबार : दोनों देश कारोबार और बढ़ाने को राजी। मोदी की मांग सर्विस सेक्टर कंपनियों को अमेरिका में छूट मिले। भरोसा दिलाया कि अमेरिकी कंपनियों को भारत में कारोबार करना सरल होगा।
  2. रक्षा : भारत-अमेरिका रक्षा समझौते की अवधि 10 साल बढ़ाई गई। इसका ब्योरा तैयार किया जा रहा है। मोदी ने रक्षा क्षेत्र की अमेरिकी कंपनियों को भारत में आकर निवेश करने का न्योता दिया।
  3. आतंकवाद : पाक आतंकवाद का जिक्र नहीं। प. एशिया व अफगानिस्तान में बढ़ रहे आतंकी खतरों से निपटने के लिए सहयोग बढ़ाएंगे। मोदी की राय- अफगानिस्तान से सेना हटाने में जल्दबाजी न करे अमेरिका।
  4. डब्लूटीओ : मोदी ने ट्रेड फैसिलिटेशन एग्रीमेंट का समर्थन किया। लेकिन कहा- कि दुनिया को हमारी खाद्य सुरक्षा का भी ध्यान रखना होगा। उम्मीद जताई कि जल्द ही यह समझौता संभव होगा।
  5. एटमी करार : सिविल न्यूक्लियर समझौते को आगे बढ़ाने के लिए भारत तैयार है। मोदी ने कहा कि इस मुद्दे पर जो भी अड़चनें हैं या भविष्य में आएंगी उसके समाधान निकाले जाएंगे।
  6. जलवायु : जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर सहयोग और सहमति बढ़ाने के लिए दोनों देश आगे भी बातचीत जारी रखेंगे। इबोला वायरस की रोकथाम के लिए भारत अमेरिका को 61 करोड़ रुपए देगा।
अजमेर, इलहाबाद और विशाखपट्‌टनम बनेंगे स्मार्ट
मोदी और ओबामा के बीच मंगलवार को हुई औपचारिक बातचीत में अजमेर सहित भारत के 3 शहरों को स्मार्टसिटी बनाने की भी बात हुई। इन शहरों को स्मार्ट बनाने में अमेरिका मदद करेगा। अजमेर के अलावा अन्य दो शहर विशाखपट्‌टनम और इलाहाबाद हैं।
रक्षा मंत्री से आतंकवाद पर हुई चर्चा
इससे पहले, मोदी ने रक्षा मंत्री चक हेगल से मुलाकात की। दोनों नेताओं ने इबोला और आतंकवाद को लेकर चर्चा की। इससे पहले दिन की शुरुआत करते हुए मोदी ने महात्मा गांधी मेमोरियल पर बापू को श्रद्धांजलि देकर की। इस मौके पर उनके साथ विदेश मंत्री सुषमा स्वराज भी मौजूद रहीं। इसी बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामाका साझा संपादकीय वॉशिंगटन पोस्ट के वेब एडिशन में प्रकाशित हुआ है। ‘अ रिन्यूड यूएस-इंडिया पार्टनरशिप फॉर द 21 सेंचुरी’ शीर्षक से छपे संपादकीय में दोनों नेताओं ने ‘चलें साथ-साथ’ का नारा दिया है। संपादकीय में कहा गया है कि भारत और अमेरिका के हित और मूल्य साझा हैं। हमारी कुदरती और अनोखी साझेदारी दुनिया में सुरक्षा और शांति में मददगार हो सकती है। अमेरिका में भारतीय समुदाय के योगदान का जिक्र करते हुए कहा गया है कि दोनों देशों के बीच रिश्ते का पूरा फायदा उठाया जाना बाकी है। संपादकीय में वाजपेयी का जिक्र भी किया गया है। वाजपेयी के बारे में कहा गया है कि वर्ष 2000 में उन्होंने ही दोनों देशों को कुदरती साझेदार कहा था।  संपादकीय में कैंसर, इबोला के इलाज में एक-दूसरे की मदद, भारत में स्वच्छता अभियान में अमेरिकी सहयोग की बात कही गई है।

You must be logged in to post a comment Login