पटना में दशहरा उत्सव के दौरान मची भगदड़ में कम से कम 32 लोगों की मौत

पटना में दशहरा उत्सव के दौरान मची भगदड़ में कम से कम 32 लोगों की मौत

patna 1

बिहार की राजधानी पटना में शुक्रवार को दशहरा उत्सव के दौरान मची भगदड़ में कम से कम 32 लोगों की मौत हो गई और 21 लोग घायल हो गए। जिलाधिकारी मनीष वर्मा ने बताया कि मरने वालों में 20 महिलाएं और 5 बच्चे शामिल हैं। राज्य के गृह सचिव आमिर सुबहानी ने बताया कि इस हादसे में बड़ी संख्या में लोगों के घायल होने की आशंका जताई है।

घायलों को पटना मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (पीएमसीएच) में भर्ती कराया गया है। हादसे में मरने वालों में महिलाओं और बच्चों की संख्या ज्यादा है। गांधी मैदान में हर साल की तरह विजयदशमी के दौरान रावण दहन का आयोजन किया गया था। बताया जा रहा है कि आयोजन की समाप्ति के बाद जब लोग लौट रहे थे, उसी दौरान भगदड़ मच गई।

गांधी मैदान के दक्षिणी छोर पर शिवसागर राम गुलाम चौक के बाद भगदड़ मची। बताया जा रहा है कि बिजली का तार गिरने की अफवाह फैल गई जिससे भगदड़ मच गई। इस मामले में प्रशासनिक लापरवाही की बात भी सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि रावण दहन के बाद लोगों के बाहर निकलने के लिए एक ही गेट का इंतजाम था। बाकी के सारे गेट बंद कर दिए गए थे। इसकी वजह से भगदड़ के दौरान लोग आराम से बाहर नहीं निकल सके।

घटना के कारणों का पता नहीं चल पाया है। अफवाह की बात कही जा रही है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है।
– गुप्तेश्वर पांडेय, एडीजी मुख्यालय

5-5 लाख मुआवजा : राज्य सरकार ने मृतकों के परिजनों को तीन-तीन लाख और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी केंद्र की ओर से दो-दो लाख रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया है। प्रधानमंत्री घटना को लेकर राज्य के मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी से बात भी है। पीएम ने गंभीर रूप से घायलों के लिए 50 हजार रुपये देने का ऐलान किया है।

गांव से पटना लौटे सीएम
पटना के गांधी मैदान में रावण वध के बाद मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी गया के महकार स्थित अपने पैतृक गांव चले गए थे। जैसे ही उन्हें इसकी सूचना मिली वे पटना के लिए वापस हो प्रस्थान कर गए। देर रात मुख्यमंत्री पटना पहुंचे और उन्होंने हालात का जायजा लिया।

मुख्यमंत्री के जाने के बाद हादसा : गांधी मैदान में रावण दहन कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए राज्य के मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी पहुंचे थे। कार्यक्रम स्थल से उनके जाने के बाद हादसा हुआ।

हेल्पलाइन नंबर जारी : गांधी मैदान में भगदड़ में बिछुड़े लोगों के बारे में जानकारी के लिए प्रशासन ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। जिसका नंबर 0612- 2219810 है।

उच्च स्तरीय जांच के आदेश : राज्य के मुख्य सचिव ने बताया कि इस हादसे के लिए उच्च स्तरीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं।
केंद्र देगा 2-2 लाख मुआवजा : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हादसे में मारे गए लोगों के परिवारों को दो दो लाख रुपये मुआवजा देने का ऐलान कर दिया है। प्रधानमंत्री घटना को लेकर राज्य के मुख्यमंत्री जीतन राम माझी से बात भी की है।

You must be logged in to post a comment Login