दिल्ली से अगवा 4 युवकों की हरियाणा में हत्या, कार में फूंके शव

दिल्ली से अगवा 4 युवकों की हरियाणा में हत्या, कार में फूंके शव

02_01_2015-1murder1a

राजधानी दिल्ली की गैंगवार से बृहस्पतिवार को बहादुरगढ़ भी थर्रा गया। वहां से अगवाचार युवकों की पहले हत्या की गई, बाद में उन्हीं की कार में शवों को डालकर बहादुरगढ़ के एक गांव में जला दिया गया। मरने वालों में दिल्ली के मित्राऊ गांव के तीन और समसपुर का एक युवक था।दिन भर के संशय के बाद आखिर देर रात मृतक मनीष के चचेरे भाई नरेंद्र की शिकायत पर बहादुरगढ़ के सदर थाना में ही एफआइआर दर्ज की गई। नरेंद्र ने बताया कि मनीष व उसके साथी संदीप, सुधीर तथा समसपुर का दीपक मित्राऊ के ही भूपेश के घर नए साल की पार्टी मनाने गए थे। आधी रात के बाद वे चारों घर के लिए निकल लिए। कुछ देर बाद सुधीर ने भूपेश को फोन कर बताया कि उनका रास्ते में रवींद्र उर्फ भोलू के साथ उसके आफिस के सामने झगड़ा हो गया है। इसके बाद उनके मोबाइल बंद हो गए। बाद में परिजन रवींद्र के घर पहुंचे तो वहां पर ताला लगा मिला।पुलिस ने बताया कि पीडि़त पक्ष की रवींद्र के साथ पहले से रंजिश है, क्योंकि मार्च 2014 में दीपक ने रवींद्र पर गोली चलाई थी। मगर वह बच गया था। अंदेशा जताया गया है कि चारों की हत्या में रवींद्र के अलावा उसके भाई धर्मेंद्र व गोपाल, राहुल निवासी मित्राऊ व दरियापुर का चोटी शामिल है।

चेसिस नंबर से खुलासा

पुलिस ने छानबीन शुरू की तो गाड़ी की चेसिस नंबर से खुलासा हुआ। दिल्ली के छावला निवासी हरीश के नाम गाड़ी मिली, लेकिन फिलहाल यह उसके दोस्त मित्राऊ के संदीप के पास थी। मृतकों में दिल्ली के मितराऊ गांव का रहने वाला मनीष (27), सुधीर (35), संदीप (34) व दिल्ली के ही समसपुर का दीपक (17) था। सूत्रों के मुताबिक मरने वालों में शामिल सोनू का भाई नवीन फिलहाल जेल में है। उस पर पपरावट गांव के रहने वाले दो लोगों की नजफगढ़ की एक कॉलोनी में हत्या किए जाने का आरोप है। इसके साथ ही नजफगढ़ के ही एक अन्य बदमाश से भी नवीन के परिवार की रंजिश चल रही है।

You must be logged in to post a comment Login