दांत का दर्द (Toothache)

दांत का दर्द (Toothache)

TEETHदांत के आसपास जबड़ों में होने वाले हल्के दर्द को टूथएक कहते हैं. आमतौर पर कुछ खाते समय दांतों में उसका अंश फंस जाना, कैविटी, नया दांत निकलना या कोई सख्त चीज़ काटने के कारण दांतों में क्रैक की वजह से भी दांत में दर्द होने लगता हैं.

दर्द के लक्षण
• चबाने में दर्द होना
• खून बहना या बुरे स्वाद वाला रिसाव होना
• मसूड़ों या जबड़े की सूजन
• मसूड़ों या जबड़े में लाली
• गर्म या ठंडा खाने या पीने पर दर्द होना

उपचार
गर्म पानी से कुल्ला करें और धीरे-धीरे दांतों के बीच फ्लॉस करें ताकि अगर खाना अटका तो वो निकल जाएगा. अगर फ्लॉस करने से भी खाने का अंश न निकले तो डेंटिस्ट के पास जाएँ.
दर्द केलिए कोई पेनकिलर लें.
आइस पैक या टॉवेल में आइस लपेटकर उसे गालों पर कुछ देर के लिए रखें. अगर गालों में सूज़न आ जाए और दर्द हो तो फ्रोज़ेन पीज़ को आइसपैक की जगह लगाएँ. ये चेहरे के आकार के अनुसार बदल सकते हैं.
अगर दो दिनों में दर्द नहीं जाता तो डेन्टिस्ट के पास जाएँ. हो सकता हैं ज़्यादा कॅविटी या क्रॅक की वजह से दर्द हो.
दांत का डॉक्टर आपके मुंह की जांच करेगा और एक्स-रे लेगा। फिर दांत का डॉक्टर दांत को ठीक करेगा या निकाल देगा। आपको दर्द निवारक दवाएं या एंटीबायोटिक लेने के लिए कहा जा सकता है। डॉक्टर की बताई गई दवाएं लें।
इसे सुरक्षित प्राकृतिक तरीके से भी कम किया जा सकता है।
जड़ी-बूटी से बने कई प्रकार के प्राकृतिक दर्दनिवारक हैं, जैसे सरसों, काली मिर्च या लहसुन, जिनका दांत के दर्द के उपचार में प्रभावी तरीके से उपयोग किया जा सकता है।

You must be logged in to post a comment Login