डीआइजी की मौजूदगी में हुई नक्सलियों की शारीरिक जांच पुलिस में बहाली की प्रक्रिया शुरू! झारखंड

डीआइजी की मौजूदगी में हुई नक्सलियों की शारीरिक जांच पुलिस में बहाली की प्रक्रिया शुरू! झारखंड
2014_9$thumbimg120_Sep_2014_021141963

पुलिस लाइन में शुक्रवार को सरेंडर करनेवाले नक्सलियों की झारखंड पुलिस में बहाली के लिए शारीरिक जांच हुई. डीआइजी प्रवीण सिंह, एसएसपी प्रभात कुमार और ग्रामीण एसपी सुरेंद्र कुमार झा की देखरेख में जांच प्रक्रिया पूरी हुई.

डीआइजी ने कहा: वर्ष 2009 में सरेंडर पॉलिसी तैयार होने के बाद सरेंडर करनेवाले उग्रवादियों और नक्सलियों को पुलिस में नौकरी दी जायेगी. रांची, गुमला, सिमडेगा, लोहरदगा और खूंटी में सरेंडर करनेवाले नक्सलियों और उग्रवादियों की संख्या 50 के करीब है. शुक्रवार को 30 लोगों की शारीरिक जांच हुई.

डीआइजी ने कहा: सरेंडर करनेवाले उग्रवादियों और नक्सलियों के नाम की अनुशंसा झारखंड पुलिस में बहाली के लिए सरकार से की जायेगी. इससे संबंधित प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है. सरेंडर करने वाले उग्रवादियों को पुलिस बहाली के लिए उम्र सीमा और लंबाई में छूट दी जायेगी. यह पूछे जाने पर कि बहाली कब तक होगी, इस पर डीआइजी ने कहा: इस पर अंतिम निर्णय सरकार को लेना है. सरकार से सहमति मिलते ही बहाली की प्रक्रिया पूरी कर ली जायेगी.  बाद में सभी को प्रशिक्षण दिया जायेगा.

You must be logged in to post a comment Login