अप्रैल 2016 से लागू हो सकता है जीएसटी

अप्रैल 2016 से लागू हो सकता है जीएसटी

जीएसटी पर राज्य सरकारों के साथ बातचीत महत्वपूर्ण दौर में पहुंच गई है। इस बीच केंद्र सरकार नई अप्रत्यक्ष कर प्रणाली (जीएसटी) 1 अप्रैल, 2016 से लागू होने की उम्मीद कर रही है। राजस्व सचिव शक्तिकांत दास ने कहा कि गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) पर सहमति बनाने से सरकार 3 कदम दूर है। बाकी सभी मुद्दों पर सहमति बन गई है। वित्त मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार अक्टूबर में बैठक कर तीन प्रमुख मुद्दों पर सहमति बनाने की कोशिश की जाएगी। वित्त मंत्री अरुण जेटली और पीएम नरेंद्र मोदी भी चाहते हैं कि संसद के शीतकालीन सत्र से पहले जीएसटी पर सहमति बना ली जाए।

राजस्व सचिव ने कहा कि जीएसटी के वास्तविक क्रियान्वयन के लिए समय सीमा 1 अप्रैल, 2016 प्रैक्टिकल लगती है, लेकिन सब कुछ इस बात पर निर्भर करता है कि हम महत्वपूर्ण मुद्दों पर कितनी जल्दी सहमति बना पाते हैं। जिन 3 मुद्दों पर सहमति नहीं बन पाई है, वह हैं, पेट्रोलियम, तंबाकू और अल्कोहल को जीएसटी की परिधि से बाहर रखा जाए। राज्यों का कहना है कि उनकी सबसे अधिक आमदनी पेट्रोलियम, तंबाकू और अल्कोहल से होती है। अगर इस पर जीएसटी लगाया गया तो उन्हें काफी नुकसान होगा। दूसरी तरफ केंद्र का कहना है कि वह चाहता है कि कम से कम पेट्रोल और डीजल की कीमतें तो सभी राज्यों में एक समान रहे। इस मुद्दे पर अभी मतभेद जारी है। दूसरा मुद्दा है कि जीएसटी के लागू होने के बाद अगर राज्य सरकार के टैक्स कलेक्शन में कमी आती है तो कितने साल तक केंद्र इसकी भरपाई करेगा। केंद्र का कहना है कि वह 3 साल तक इसकी भरपाई करने को तैयार है, जबकि राज्य चाहते हैं कि यह अवधि बढाकर 5 साल की जाए। तीसरा अहम मुद्दा है कि जैसे जैसे जीएसटी से आमदनी बढ़े, जीएसटी में उनकी हिस्सेदारी भी उसी हिसाब से बढ़ाई जाए। इसके लिए केंद्र सरकार फिलहाल तैयार नहीं है।

अप्रैल 2016 से लागू हो सकता है जीएसटी
अप्रैल 2016 से लागू हो सकता है जीएसटी

You must be logged in to post a comment Login