जयललिता की जमानत याचिका पर सुनवाई आज

जयललिता की जमानत याचिका पर सुनवाई आज

hindi_news (1)

कर्नाटक हाई कोर्ट अन्नाद्रमुक प्रमुख जे. जयललिता की जमानत याचिका पर मंगलवार को सुनवायी करने को तैयार है.

जिसका पार्टी कार्यकर्ता बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं. इस बीच आय से अधिक सम्पत्ति मामले में जयललिता को दोषी करार दिए जाने के फैसले के खिलाफ राज्य भर में प्रदर्शन जारी हैं. जयललिता की रिहायी के लिए अन्नाद्रमुक कार्यकर्ता, जयललिता समर्थक, राज्य के मंत्री, सांसद और विधायकों का प्रदर्शन और अनशन जारी है.  पिछले 27 सितंबर को एक विशेष अदालत द्वारा चार वर्ष की सजा सुनाए जाने के बाद जयललिता फिलहाल बेंगलुरु स्थित एक जेल में बंद हैं. जयललिता की रिहायी के लिए अन्नाद्रमुक कार्यकर्ता, जयललिता समर्थक, राज्य के मंत्री, सांसद और विधायकों का प्रदर्शन और अनशन जारी है.

गत 27 सितंबर को एक विशेष अदालत द्वारा चार वर्ष की सजा सुनाए जाने के बाद जयललिता फिलहाल बेंगलूर स्थित एक जेल में बंद हैं. तमिलनाडु ओमनी बस आनर्स एसोसिएशन ने सोमवार को घोषणा की कि जयललिता के साथ ‘‘एकजुटता प्रदर्शित करने के लिए’’ 1500 ओमनी बसें मंगलवार को सड़कों पर नहीं उतरेंगी. कोयंबटूर और नीलगिरि जिलों में बंद के चलते सोमवार को पर्यटकों को उचित भोजन नहीं मिल पाया. पुलिस ने बताया कि एक दिन के बंद के चलते नीलगिरि जिला स्थिति प्रमुख पर्यटक स्थनों उदगमंडलम, कुन्नूर, गुडलूर और कोठागिरि में पर्यटकों को समुचित भोजन नहीं मिल पाया क्योंकि सभी होटल, रेस्त्रां बंद थे.

इस बीच कोयंबटूर स्थित कुनियामुतूर में एक अनशन आयोजित किया गया जिसमें करीब अन्नाद्रमुक के युवा इकाई के करीब 500 सदस्यों ने हिस्सा लिया. इसके साथ ही जयललिता को जल्द रिहा करने की मांग को लेकर उक्कादम बस स्टैंड के पास करीब 100 लोगों ने अनशन किया. फेडरेशन ऑफ कोयंबटूर प्राइवेट सेल्फ फाइनेंसिंग कॉलेजेस ने जयललिता की रिहायी की मांग के साथ एकजुटता प्रदर्शित करने के लिए मंगलवार को 170 कॉलेजों में एक दिन के अवकाश की घोषणा की है. पुडुचेरी में भी प्रदर्शन जारी हैं जहां विधायक ओम शक्ति सागर के नेतृत्व में जारी 12 घंटे के अनशन में अन्नाद्रमुक विधायकों और पार्टी के विभिन्न इकाइयों के सदस्य भी शामिल हो गए हैं.

You must be logged in to post a comment Login