जम्मू-कश्मीर 1,10,000 से ज्यादा लोगों को सुरक्षित निकाला गया

जम्मू-कश्मीर 1,10,000 से ज्यादा लोगों को सुरक्षित निकाला गया

2014_9$largeimg212_Sep_2014_095100360

जम्मू कश्मीर में बाढ़ के कहर का आज ग्यारहवां दिन है. लोगों को थोड़ी बहुत राहत मिली है लेकिन अभी भी कई घर है जहां पानी अंदर तक घुसा है. राहल देने वाली बात यह है कि मोबाइल नेटर्वक ने काम करना शुरु कर दिया है. कई लोगों को सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया है.

जम्मू-कश्मीर के बाढ़ प्रभावित इलाकों से अब तक 1,10,000 से ज्यादा लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है वहीं राज्य में सशस्त्र बलों द्वारा शुरु बचाव एवं राहत अभियान अब भी जारी है.

रक्षा जनसंपर्क अधिकारी (पीआरओ) कर्नल एस. डी. गोस्वामी ने कहा, जम्मू-कश्मीर के विभिन्न इलाकों से सशस्त्र बलों और एनडीआरएफ ने आज तक 1,10,000 से ज्यादा लोगों को बचाया है. उन्होंने कहा कि मिशन सहायता अभियान में मदद के लिए नौसेना मरीन कमांडो का तीसरा जत्था श्रीनगर पहुंच गया. वह अपने साथ कंप्रेसर, सेटेलाइट फोन और अन्य सामान भी लाया है.

कर्नल गोस्वामी ने कहा कि बचाव एवं राहत कार्यों में वायु सेना एवं थल सेना के हवाई कोर के 84 परिवहन विमानों एवं हेलीकॉप्टरों को लगाया गया है और थलसेना ने करीब 30 हजार जवानों को इस कार्य में लगाया है. उन्होंने कहा कि व्यापक राहत एवं बचाव अभियान में शामिल 30 हजार जवानों में 21 हजार कश्मीर क्षेत्र में और 9,000 जम्मू क्षेत्र में तैनात हैं.
हेलीकाप्टरों एवं विमानों ने अभी तक 1,081 उडानें भरी हैं और वायुसेना ने 1,411 टन राहत सामग्री गिराई है. सशस्त्र बलों के जवान बडे स्तर पर पानी की बोतलें और खाने के पैकेट वितरित कर रहे हैं. कर्नल गोस्वामी ने बताया कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में अब तक 2,24,000 लीटर पानी, खाने के 31,500 पैकेट और 375 टन तैयार खाना वितरित किया गया है.

You must be logged in to post a comment Login