आय से अधिक संपत्ति मामले में जयललिता को चार साल की कैद

आय से अधिक संपत्ति मामले में जयललिता को चार साल की कैद
images (2)
आय से अधिक संपत्ति मामले में तमिलनाडु की सीएम जयललिता को चार साल की कैद और 100 करोड़ रुपये के जुर्माने की सजा सुनाए जाने से कानूनी फंदे में फंसे नेताओं के होश उड़ गए हैं। जयललिता से पहले लालू प्रसाद यादव, ओम प्रकाश चौटाला, ए. राजा, कनिमोझी, दयानिधि मारन, शिबू सोरेन, मधु कोड़ा, रशीद मसूद, सुरेश कलमाड़ी और येदियुरप्पा समेत कई बड़ी हस्तियां कानून के फंदे में फंस चुकी हैं। इन बड़ी शख्सियतों का राजनीतिक कैरियर दांव पर लग गया है। जनप्रतिनिधित्व कानून के तहत दोष साबित होने पर छह साल तक चुनाव नहीं लड़ा जा सकता है।
चारा घोटाले में दोषी साबित हुए और जेल जा चुके लालू यादव जमानत पर हैं। 2जी स्पेक्ट्रम घोटाले में फंसे द्रमुक नेता ए. राजा, कनिमोझी और दयानिधि मारन भी जमानत पर हैं। शिक्षक भर्ती घोटाले में दोषी ओम प्रकाश चौटाला स्वास्थ्य के आधार पर जमानत पर हैं। उनके बेटे भी जेल की हवा खा चुके हैं। उनके खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट में मामला चल रहा है। आय से अधिक संपत्ति मामले में भी उनके खिलाफ ट्रायल कोर्ट में मामला चल रहा है।
सांसद रिश्वत कांड में झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरेन और खनन घोटाले में पूर्व सीएम मधु कोड़ा भी जेल जा चुके हैं। राष्ट्रमंडल खेल घोटालों में सुरेश कलमाड़ी भी जमानत पर हैं। भले ही ये राजनीतिक दागी जमानत में बाहर हैं, लेकिन इनका राजनीतिक कैरियर लगभग खात्मे की ओर है। इन बड़ी हस्तियों पर कानून का शिकंजा कसने के बाद गंभीर आरोपों में फंसे अन्य नेताओं के भी होश उड़ गए है।

You must be logged in to post a comment Login