कालेधन की पाई-पाई लाऊंगा-नरेंदर मोदी

कालेधन की पाई-पाई लाऊंगा-नरेंदर मोदी

mj

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को रेडियो पर ‘मन की बात’ के जरिए देशवासियों को भरोसा दिलाया कि वह कालेधन की पाई-पाई वापस लाकर रहेंगे।
लोकसभा चुनाव में कालेधन के मुद्दे को जोर-शोर से उठाने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने माना कि कालाधन कितना है, इसका सही अनुमान सरकार के पास नहीं है। दूसरी बार रेडियो के जरिए लोगों से सीधा संवाद करते हुए पीएम मोदी ने कहा,‘ कालेधन पर आप लोग इस प्रधान सेवक पर भरोसा रखिए। यह पैसा देश के गरीबों का है, जिसे वापस लेकर आना मेरी प्रतिबद्धता है। इसके रास्ते क्या होंगे, तरीके क्या होंगे। इस पर मतभिन्नता हो सकती है। लोकतंत्र में ऐसा होता है।’

स्वच्छता अभियान बना जन आंदोलन: मोदी ने ‘स्वच्छ भारत अभियान’ की सफलता का उल्लेख करते हुए कहा कि लोगों में अब बदलाव देखने को मिल रहा है। पीएम ने सतना (मध्यप्रदेश) के भरत गुप्ता द्वारा भेजे गए मेल का जिक्र करते हुए कहा कि लोग अब ट्रेनों में भी सफाई का ध्यान दे रहे हैं, यात्री अब उसमें गंदगी नहीं फैलाते। उन्होंने कहा कि इस सफाई अभियान से गरीबों का ज्यादा भला होगा, क्योंकि स्वच्छता से बीमारी नहीं फैलेगी।

विपक्षी दलों को दिया करारा जवाब: कालेधन पर अपने रुख से पलटने के विपक्ष के आरोपों का प्रधानमंत्री मोदी ने करारा जवाब दिया। उन्होंने कहा कि कालाधन वापस लाना उनकी आस्था का सवाल है और इस बारे में कोई कोताही नहीं बरती जाएगी। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार इस मुद्दे पर सही दिशा में बेहतर काम कर रही हैं।
एशियाड खिलाड़ियों से मिली नई ऊर्जा: एशियाई खेलों में शानदार प्रदर्शन करने वाले भारतीय खिलाड़ियों से हाल में हुई मुलाकात का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि उनसे मिलकर मुझे नई ऊर्जा मिली। उन्होंने कहा कि मैं पदक विजेताओं के उत्साह और उमंग को देख रहा था कि और देशों की तुलना में हमारी व्यवस्थाएं, सुविधाएं बहुत कम होती हैं। लेकिन शिकायत की बजाए वे उत्साह से और अधिक कुछ करने की बात कर रहे थे।

कालेधन पर नामों का खुलासा करने से जांच पर असर पड़ सकता है, और इसका फायदा दोषियों को मिल सकता है।
– अरुण जेटली, वित्त मंत्री

विदेशों में जमा कालेधन के मामले में नरेंद्र मोदी सरकार ठीक वैसा ही व्यवहार कर रही है, जैसा पूर्ववर्ती संप्रग सरकार कर रही थी।
– योगेंद्र यादव, ‘आप’ नेता

अगली बार नशाखोरी पर होगी ‘मन की बात’
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अगली बार ‘मन की बात’ कार्यक्रम में नशाखोरी, ड्रग माफिया और उसके कारण भारत के युवा पर मंडरा रहे संकट के बारे में चर्चा करेंगे। उन्होंने इस बारे में आम जनता से फेसबुक, ट्विटर और ई-मेल के जरिए सुझाव भेजने को कहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि जिनके पास यह सुविधा नहीं है वो अपने सुझाव आकशवाणी, संसद मार्ग, नई दिल्ली पर चिट्ठी भेज दें।

मैं विदेशों में जमा कालेधन को वापस लाना चाहता हूं। यह मेरे मन की बात है। मेरी जितनी समझ है, मैं इस बारे में सही रास्ते पर हूं। -नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

संवाद का दिखा असर

125 फीसदी तक बढ़ी खादी की बिक्री
मोदी ने कहा, मैंने पिछली बार ‘मन की बात’ में कहा था कि कम से कम एक खादी का वस्त्र खरीदीए। मैंने किसी को खादीधारी बनने के लिए नहीं कहा था। लेकिन मुझे खादी भंडारवालों से जानकारी मिली कि एक सप्ताह में खादी के वस्त्रों की ब्रिकी में 125 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

1000 निशक्त बच्चों को स्कॉलरशिप
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने एक योजना बनाई है। इसमें जो स्पेशली एबल्ड चाइल्ड है, अगर वो तकनीकी शिक्षा पाना चाहता है, तो उसको और ऐसे एक हजार अच्छे विशेष बच्चों को चुनकर उन्हें स्पेशल स्कॉलरशिप दी जाएगी।

(प्रधानमंत्री मोदी ने 3 अक्तूबर को अपने पहले रेडियो संवाद में खादी और स्पेशली एबल्ड चाइल्ड की मदद करने के बारे में लोगों से चर्चा की थी।)

You must be logged in to post a comment Login