कश्मीर में बाढ़ से हजारों विस्थापित, 120 की मौत

कश्मीर में बाढ़ से हजारों विस्थापित, 120 की मौत

KashmirFlood~06~09~2014~1410012078_storyimage

कश्मीर घाटी में पांचवें दिन भी वर्षा नहीं रुकने के बीच बाढ़ की विभीषिका जारी रहने से हजारों लोगों को अपना मकान छोड़कर सुरक्षित स्थलों पर शरण लेने को मजबूर होना पड़ा है।

अधिकारियों ने बताया कि घाटी के करीब 400 गांवों में बाढ़ का पानी घुस आने के कारण इनमें से कई गांवों के निवासी अपने घरों को छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर चले गये हैं। लगातार हो रही वर्षा के कारण बाढ़ का पानी बढ़ रहा है।

उन्होंने कहा कि सेना, पुलिस एवं राष्ट्रीय आपदा मोचन बल के दल प्रभावित लोगों को सुरक्षित स्थलों पर पहुंचाने में मदद कर रहे हैं।

अधिकारियों ने बताया कि लोगों को स्कूली इमारतों, मस्जिदों तथा श्रीनगर एवं दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा एवं अनंतनाग जिलों के विभिन्न रेलवे स्टेशनों पर रखा गया है।

उन्होंने कहा कि कई क्षेत्रों के निवासी अपने मकानों को छोड़ने के इच्छुक नहीं हैं, क्योंकि उन्हें अपनी संपत्ति की सुरक्षा को लेकर आशंका है। इसके कारण बचाव दलों का कार्य मुश्किल हो गया है।

राज्य सरकार ने विस्थापित लोगों के लिए विभिन्न स्थानों पर सामुदायिक रसोईघर स्थापित किये हैं जबकि कुछ गैर सरकारी संगठनों ने प्रभावित लोगों को कंबल एवं कपड़ों जसे सामान बांटने शुरू कर दिये हैं।

स्थानीय प्रशासन ने घाटी में नदियों एवं धाराओं के समीप रहने वालों से सुरक्षित रहने के लिए कहा है, क्योंकि पुलवामा जिले में विभिन्न स्थलों पर तटबंध टूट गये हैं।

घाटी में कई अन्य इलाकों में बाढ़ आने का खतरा है क्योंकि मौसम विभाग ने राज्य में अगले 24 घंटे के दौरान और अधिक वर्षा होने का पूर्वानुमान व्यक्त किया है। राज्य में पिछले करीब छह दशक में आयी सबसे भीषण बाढ़ में अभी तक 100 लोगों की जान जा चुकी है।

You must be logged in to post a comment Login