ओबामा ने शांति का नोबेल मिलने पर सत्यार्थी और मलाला को दी बधाई

ओबामा ने शांति का नोबेल मिलने पर सत्यार्थी और मलाला को दी बधाई

53131-barack-obama

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने बाल श्रम विरोधी कार्यकर्ता कैलाश सत्यार्थी और पाकिस्तानी किशोरी मलाला यूसुफजई को नोबेल शांति पुरस्कार के लिए चुने जाने पर बधाई देते हुए कहा कि यह उन सभी लोगांे की जीत है जो प्रत्येक मानव की गरिमा बनाए रखने के लिए काम करते हैं।ओबामा ने एक बयान में कहा, ‘मिशेल की ओर से, अपनी ओर से और अमेरिका वासियों की ओर से मैं कैलाश सत्यार्थी तथा मलाला को नोबेल पुरस्कार के लिए चुने जाने पर बधाई देता हूं। यह घोषणा उन सभी लोगों के लिए एक जीत है जो प्रत्येक मानव की गरिमा बनाए रखने के लिए काम कर रहे हैं।’वर्ष 2009 में नोबेल पुरस्कार हासिल करने वाले ओबामा ने कहा कि मलाला और कैलाश के काम काज को मान्यता देना हमें हमारे सभी बच्चों के अधिकारों और स्वतंत्रता की हिफाजत के लिए काम करने की तात्कालिकता की याद दिलाता है। साथ ही, यह सुनिश्चित करना है कि अपने पिछड़ेपन एवं लैंगिक असमानता के बावजूद उन्हें (बच्चों का) ईश्वर से मिली क्षमताओं का लाभ उठाने का पूरा मौका मिले।ओबामा ने कहा कि 17 साल की ही उम्र में मलाला यूसुफजई ने हर कहीं बालिकाओं के लिए शिक्षा सुनिश्चित करने के अपने जुनून और जज्बे तथा प्रतिबद्धता से दुनिया भर के लोगों को प्रेरित किया है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि तालिबान ने जब मलाला को खामोश करने की कोशिश की तब उन्होंने उनकी निर्ममता का मजबूती से जवाब दिया।उन्होंने कहा कि सत्यार्थी ने अपना जीवन बाल श्रम खत्म करने और दुनिया से दासता की कुरीति को खत्म करने के लिए समर्पित कर दिया। उन्होंने कहा कि कैलाश की कोशिशों का पैमाना उन्हें एक पुरस्कार भर मिलना नहीं है जो उन्हें दिया जा रहा है, बल्कि ऐसे हजारों लोग जो आज स्वतंत्रता से और गरिमा के साथ रह रहे हैं, उन्हें इस व्यक्ति की कोशिशों का शुक्रिया अदा करना चाहिए।

You must be logged in to post a comment Login