ईरान ने अंतरराष्‍ट्रीय दबाव के बावजूद महिला को फांसी पर लटकाया

ईरान ने अंतरराष्‍ट्रीय दबाव के बावजूद महिला को फांसी पर लटकाया
7811_reyhaneh-jabbar
ईरान ने मानवाधिकार संगठनों के विरोध के बावजूद 26 साल की रेहाना जब्बारी को शनिवार को फांसी दे दी। उन पर ईरान के एक खुफिया अधिकारी की चाकू मारकर हत्‍या करने का आरोप था। बताया जाता है कि अधिकारी ने उनके साथ रेप की कोशिश की थी, और आत्‍मरक्षा में उन्‍होंने यह कदम उठाया था।
 2007 में किया गया था अरेस्‍ट
रेहाना की मां शोले पाकरावान ने शनिवार को इस बात की पुष्टि की कि उनकी बेटी को तेहरान जेल में फांसी दे दी गई। रेहाना को मुर्तजा अब्दोआली सरबंदी की हत्या के जुर्म में 2007 में गिरफ्तार किया गया था। तब से उन्‍हें कैद में रखा गया था। मानवाधिकार संगठन एमनेस्टी इंटरनेशनल के मुताबिक, जांच के बाद रेहाना को हत्‍या का दोषी ठहराया गया था।
 नहीं सुनी गई अपील
रेहाना की फांसी रोकने के लिए मानवाधिकार संगठनों द्वारा पिछले महीने टि्वटर और फेसबुक पर कैंपेन शुरू किया गया था। इस कैंपेन से कुछ वक्त के लिए रेहाना की फांसी टाल दी गई थी। सरकारी न्यूज एजेंसी तस्नीम पर दी गई जानकारी के मुताबिक, चूंकि पीड़ित परिवार के सदस्यों ने रेहाना को माफ करने से इनकार कर दिया था, इसलिए उनकी सजा बरकरार रखी गई। यह भी बताया जा रहा है कि रेहाना, आत्मरक्षा की दलील कोर्ट में साबित नहीं कर सकीं।

You must be logged in to post a comment Login