आधार कार्ड बनवाने में ठंड में भी पसीने छूट रहे हैं

आधार कार्ड बनवाने में  ठंड में भी पसीने छूट रहे हैं
 आधार कार्ड का पंजीकरण कराने में लोग हलकान हो रहे हैं. आधार पंजीकरण के लिए कहीं भी स्थान चिह्न्ति नहीं होने के कारण लोगों को कार्ड बनवाने में इस ठंड में भी पसीने छूट रहे हैं. ऊपर से उनकी जेब भी ढीली हो रही है.
 आधार नंबर की महत्ता को देखते हुए प्रदेश सरकार ने पंजीकरण के लिए दिसंबर माह में ही जिलावार एजेंसी का चयन किया है. भागलपुर के लिए एडमी एजेंसी का चयन किया गया है, लेकिन अभी तक एजेंसी ने नये निर्देश के आलोक में अपना काम शुरू नहीं किया है. घरेलू गैस की सब्सिडी प्राप्त करने के लिए आधार नंबर को बैंक व गैस एजेंसी से लिंक कराने के फैसले के बाद अचानक आधार कार्ड की महत्ता बढ़ गयी. कहा जा रहा है कि मार्च के बाद केवल आधार नंबर वालों को ही गैस की सब्सिडी प्राप्त हो सकेगी.
इसे देखते हुए लोग आधार कार्ड बनवाने के लिए भागदौड़ करने लगे. हालात यह है कि आधार कार्ड बनवाना जिलावासियों के लिए जंग जीतने के समान हो गया है. जिला में फिलहाल कहीं भी आधार कार्ड पंजीकरण के लिए स्थान तय नहीं है.
 आधार नंबर की आवश्यकता व इसके पंजीकरण को लेकर आ रही परेशानी को देखते हुए प्रदेश सरकार ने सभी जिलों के लिए अलग-अलग एजेंसी को नामित कर दिया और प्रशासनिक पदाधिकारी को इसकी जवाबदेही भी दे दी. लेकिन जिला में इसका कोई ठोस नतीजा सामने नहीं आ रहा है. चयनित एजेंसी एडमी द्वारा फिलहाल कहीं भी आधार पंजीकरण के लिए कैंप आदि नहीं लगाया गया है.
 15 मार्च तक का है समय : आधार पंजीयन का काम 15 मार्च तक चलेगा. इसके लिए चिह्न्ति एजेंसी को 15 मार्च तक हर हाल में सभी का आधार पंजीयन करने का निर्देश दिया गया है, लेकिन अभी तक पंजीकरण का काम शुरू नहीं करने को लेकर इस पर भी संदेह के बादल मंडराने लगे हैं. आधार पंजीकरण के लिए सबसे पहले स्कूल, कॉलेज व महादलित टोलों में आधार पंजीकरण कैंप लगाने का निर्देश दिया गया था. साथ ही कैंप का व्यापक प्रचार-प्रसार करने को भी कहा गया था, लेकिन अभी तक कैंप लगाने के स्थल का ही चयन नहीं हो पाया है.

You must be logged in to post a comment Login