आज पटना पहुंचेंगे जयपुर से मुक्त कराए गए 140 बाल मजदूर

आज पटना पहुंचेंगे जयपुर से मुक्त कराए गए 140 बाल मजदूर

images

 राजस्थान की राजधानी जयपुर में एक चूड़ी बनाने के कारखाने में काम कर रहे बिहार के 140 बाल मजदूरों को असंगठित क्षेत्र कामगार संगठन व राजस्थान बाल अधिकार संरक्षण के संयुक्त प्रयास से मुक्त कराया गया। यह सभी आज पटना पहुंचेंगे। कड़ी मशक्कत के बाद इन बाल श्रमिकों को मुक्त कराने में सफलता प्राप्त की गई है। बाल श्रमिकों को राजस्थान के जयपुर से 20 अगस्त से 2 अक्टूबर के बीच सघन अभियान के तहत मुक्त कराया गया। संगठन के इस अभियान में जयपुर की मानव तस्करी इकाई, जिला टास्क फोर्स और चाइल्ड लाइन ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। सुबह सभी मुक्त कराए गए बच्चे बाड़मेर-गुवाहटीएक्सप्रेस से पटना पहुंचेंगे। बिहार सरकार के श्रम विभाग के तीन पदाधिकारी व राजस्थान पुलिस के चार जवान बच्चों को लेकर आ रहे हैं। बच्चे सकुशल और सुरक्षित गंतव्य तक पहुंचे इसलिए अभियान से जुड़े दो सदस्य भी साथ होंगे। मुक्त कराए बच्चों में सबसे अधिक 78 बच्चे गया जिले के हैं। अन्य बच्चे नालंदा, नवादा, मधुबनी, जहानाबाद, समस्तीपुर, दरभंगा, वैशाली व अन्य जिलों के हैं। विभिन्न जिलों के इन बच्चों को बिहार सरकार के पदाधिकारी सुरक्षित घर तक छोड़ेंगे। मुक्ति के बाद सभी बच्चों को जयपुर प्रशासन की ओर से बंधुआ श्रम कानून के तहत बंधुआ श्रम अवमुक्ति प्रमाण पत्र जारी किया गया है। असंगठित क्षेत्र कामगार संगठन एवं राजस्थान बाल अधिकार संरक्षण साझा अभियान के तहत जयपुर से छुड़ाये गए 140 बाल श्रमिक अपने परिवार के पास पहुंचेंगे। ये बाल श्रमिक बीस अगस्त से दो अक्टूबर तक चलाए गए अभियान के तहत मुक्त कराये गए हैं। बाल श्रमिक सोलह अक्टूबर को बाड़मेर गुवाहाटी एक्सप्रेस से पटना पहुंचेंगे। संगठन के विजय कांत सिंह ने बताया कि मुक्त कराये गए सभी बच्चे राज्य सरकार के श्रम विभाग के तीन पदाधिकारियों एवं राजस्थान पुलिस की चार सदस्यीय टीम के साथ पटना पहुंचेंगे। मुक्त कराये गए बच्चों में से 78 बच्चे गया जिले के हैं। अन्य बच्चे नालंदा, मधुबनी, जहानाबाद, समस्तीपुर, दरभंगा, वैशाली जिले के हैं

You must be logged in to post a comment Login