अलीबाबा के आईपीओ ने तोड़ा रिकॉर्ड, लखपति बने कर्मचारी

अलीबाबा के आईपीओ ने तोड़ा रिकॉर्ड, लखपति बने कर्मचारी

2f4d797284f9cdffad5e74f5ba01650b_L

चीनी ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा के आईपीओ ने खुलते ही रिकॉर्ड तोड़ दिया. वॉलस्ट्रीट पर पहले ही दिन 38 प्रतिशत जुटाकर अलीबाबा ने आईपीओ के ओपनिंग डे पर सबसे ज्यादा निवेशक जुटाने का रिकॉर्ड बना लिया है.

अलीबाबा ग्रुप के आईपीओ को शानदार ओपनिंग मिली और एक शेयर का दाम 68 डॉलर तक जा पहुंचा.

इससे कंपनी को 21.8 बिलियन डॉलर की आमदनी हुई है.

अलीबाबा डॉट कॉम के आईपीओ को अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ माना जा रहा था. इस आईपीओ से कंपनी की वैल्युएशन 167.6 बिलियन तक जा पहुंची है और कंपनी ने वॉल्ट डिज्नी से लेकर बोइंग तक की कंपनियों को पीछे छोड़ दिया है.

आईपीओ की कीमत प्राइस बैंड के सबसे ऊंचे लेवल पर तय की गई. शुक्रवार से न्यू यॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में कंपनी के शेयर की ट्रेडिंग शुरू हो गई है.

अमेरिकी कंपनियां अलीबाबा के फ्यूचर प्रॉस्पेक्ट को लेकर कांफिडेंट हैं. कंपनी ने 320 मिलियन शेयर लॉन्च किए हैं, जो कंपनी की कैपिटल का 13 फीसदी के बराबर होती है.

कौन है अलीबाबा

जैक मा ने 15 साल पहले अलीबाबा की स्थापना की थी.

पूर्व अंग्रेजी टीचर और अपने कॉलेज के एंट्रेंस एग्जाम में दो बार फेल होने वाले जैक ने अपने 17 दोस्तों के साथ मिलकर एक अपार्टमेंट में इस कंपनी की शुरूआत की थी. मा ने कंपनी का नाम इस तरीके से सोच के रखा कि इसे किसी भी भाषा वाला व्यक्ति आसानी से बोल सके.

शुरूआत में कंपनी की वेबसाइट चीनी मैन्यूफेक्चरर्स को विदेशी खरीदारों से जोड़ती रही और आज यह ई-कॉमर्स कंपनी बन गई है.

अलीबाबा का विस्तार बैंकिग, डिजीटल मैप्स और ऑनलाइन वीडियो तक हो गया है.

कंपनी में वर्तमान में 21000 कर्मचारी हैं. 50 वर्षीय जैक ने समाजसेवा पर ध्यान देने के लिए पिछले साल सीईओ का पद छोड़ दिया था, लेकिन वे अब भी कंपनी के चेयरमैन हैं

You must be logged in to post a comment Login