अलकायदा की हरकतों से भारत को डरने की जरूरत नहीं अमेरिका

अलकायदा की हरकतों से भारत को डरने की जरूरत नहीं अमेरिका

05_09_2014-5alqaeda

अमेरिका ने भारत को अल कायदा के खतनाक मंसूबों से सतर्क किया है। अमेरिका ने बताया है कि अल कायदा इंडियन कॉन्टिनेंट में अगस्त तक पांव पसार चुका है। हालांकि उसने कहा कि इससे भारत को डरने की जरूरत नहीं है। अल कायदा की समाप्ति के लिए हम प्रतिबद्ध है।

इससे पहले, अल कायदा ने साउथ एशियन ब्रांच बनाने की घोषणा की है। इसका नाम रहेगा अल कायदा इंडियन सबकॉन्टिनेंटल। अल कायदा इसके पहले भी भारत को धमकी देते रहा है। जब ओसामा बिन लादेन ने 1996 में जेहाद का ऐलान किया था तब से भारत के लिए धमकी भरे बयान हमेशा आते थे।

अलकायदा प्रमुख अल जवाहिरी की सितारा अरब व‌र्ल्ड में लगातार डूब रहा है। ऐसे में वह साउथ एशिया में खुद को प्रासंगिक बनाने की कोशिश में लगा है। वह अरब व‌र्ल्ड की नाकामियों के साउथ एशिया में कामयाब करना चाहता है। नरेंद्र मोदी के चुने जाने, म्यांमार में मुस्लिमों का दमन और पाकिस्तान में अस्थिरता के बीच जवाहिरी अल कायदा की संभावनाओं को तलाश रहा है। ऐसे में वह भर्ती अभियान के साथ अपनी गतिविधि को बढ़ा सकता है। आश्चर्यजनक रूप से जवाहिरी ने मौलाना असीम उमर को चीफ बनाया है। उमर तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान का पूर्व कमांडर है। उमर सीरिया और इराक में अपने लड़ाकों पर गर्व करता है।

You must be logged in to post a comment Login