अमेरिका में बेमौसम कड़ाके की सर्दी, तोड़ पिछले 38 साल का रिकॉर्ड

अमेरिका में बेमौसम कड़ाके की सर्दी, तोड़ पिछले 38 साल का रिकॉर्ड

अमेरिका नवंबर के महीने में कड़ाके की ठंड से बुरी तरह कांप रहा है। पिछले कुछ दिनों से जारी भारी हिमपात के कारण पूरे अमेरिका में बर्फ की मोटी चादर सी बिछ गई हैं।  भयंकर सर्दी और बर्फीले तूफान के कारण तापमान पहुंच गया है शून्य से नीचे। माना जा रहा है कि 1976 के बाद पहली बार अमेरिका को इतनी सर्दी का सामना करना पड़ रहा है। पेनसिल्वेनिया, ओहायो और विस्कॉन्सिन भी भारी बर्फबारी से जूझ रहे हैं। अमेरिका के पूर्वी तट का अहम राजमार्ग इंटरस्टेट 90 का करीब 200 किलोमीटर हिस्सा लंबे समय के लिए बंद कर दिया गया है। इतनी बर्फ गिर चुकी है कि बर्फ हटाने वाली गाड़ियां लगातार काम कर रही हैं, फिर भी हर जगह की बर्फ तेजी से नहीं हट पा रही है। इस भयंकर ठंड ने अभी तक आठ लोगों की जान ले ली है जिसमें से पांच लोग न्यूयॉर्क के हैं। स्थानीय मौसम विभाग के मुताबिक अभी इस भयंकर ठंड से मुक्ति संभव नहीं हैं।  अमेरिकी अधिकारियों ने बूढ़े लोगों से अपील की है कि वह बर्फ हटाने के लिए बाहर नहीं निकलें। पूरी की पूरी कारें बर्फ के नीचे दफन हो गई हैं। पांच फीट का आदमी बर्फ में धंस जाए, इतनी बर्फ कई शहरों में जमी हुई है| इतनी बर्फ पड़ने से यातायात भी बहुत प्रभावित हुआ है। कई उड़ानों को रद्द कर दिया गया है। हवाई सेवाओं के अलावा ट्रेन और सड़क यातायात भी बुरी तरह प्रभावित हुआ है। आर्कटिक से आने वाली इस ठंड को बिग चिल और आर्कटिक ब्लास्ट का नाम दिया गया है। न्यूयॉर्क के एक हिस्से में तो छह फुट तक बर्फ गिरने की खबर है। इस ठंड ने अमेरिका में पिछले 38 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। ऐसी ठंड दिसंबर के आखिरी सप्ताह से फरवरी तक होती है।  अमेरिका में बेमौसम की इस कड़ाके की सर्दी का मुख्य कारण आर्कटिक क्षेत्र में उठे बादल हैं। जिसके कारण हवाई सहित सभी अमेरिकी राज्यों में पारा शून्य या शून्य डिग्री सेल्सियस से भी नीचे चला गया है।

You must be logged in to post a comment Login