वॉट्सएप पर फोटो दिखाकर करता था सौदा, सेक्स रैकेट का खुलासा

वॉट्सएप पर फोटो दिखाकर करता था सौदा, सेक्स रैकेट का खुलासा

रांची लोअर बाजार पुलिस ने राजधानी में चल रहे सेक्स रैकेट का खुलासा हुआ है। इस रैकेट में शामिल तीन लड़कियों के अलावा एक ग्राहक भी पकड़ा गया है। जबकि, रैकेट का सरगना राजन फिर फरार हो गया है। राजन वॉट्सएप पर लड़कियों की बोली लगाता था और ग्राहक ढूंढने से लेकर कमरा व लड़कियां उपलब्ध कराने तक का काम करता था।

तीनों लड़कियां लोअर बाजार थाना क्षेत्र के होटल पर्ल में ठहरी हुई थीं। गिरफ्तार ग्राहक आशुतोष है, जो बरियातू का रहने वाला है। वहीं, दो युवतियां पश्चिम बंगाल व एक धनबाद की रहने वाली हैं। लड़कियों ने पुलिस को बताया कि राजन सिंह उर्फ माइकल नामक व्यक्ति इन युवतियों को धंधा कराने के लिए रांची लाया था। गिरफ्तार युवतियों से पुलिस पूछताछ कर रही है। तीनों युवतियों व एक ग्राहक के खिलाफ लोअर बाजार थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है।

संदिग्ध मिले युवक-युवती की निशानदेही पर खुला भेद:
अरगोड़ा पुलिस को किसी ने सूचना दी कि अशोकनगर के एक कमरे में एक युवक व एक युवती संदिग्ध रूप से हैं। अरगोड़ा पुलिस ने छापेमारी की, तो बरियातू निवासी आशुतोष एक युवती के साथ वहां आपत्तिजनक हालत में मिला। दोनों से पुलिस ने जब पूछताछ की तो उन लोगों ने पूरे मामले का खुलासा किया। उनकी निशानदेही पर ही लोअर बाजार थाना क्षेत्र के होटल पर्ल में छापेमारी हुई, जहां से दो लड़कियां पकड़ी गईं।

वॉट्सएप पर लड़कियों का फोटो दिखाकर राजन करता था सौदा:

पूछताछ के क्रम में तीनों युवतियों ने पुलिस को बताया कि कुछ दिन पहले ही राजन ने उन्हें रांची बुलाया था। होटल पर्ल में ठहरने और खाने-पीने की सारी व्यवस्था भी की गई थी। राजन सिंह ही वॉट्सएप पर ग्राहक को युवतियों का फोटो दिखाकर सौदा करता था। डील फाइनल होने के बाद ग्राहक को होटल का नाम और कमरा नंबर बताया जाता था। इसकी जानकारी संबंधित युवती को भी दी जाती थी। अगर कोई ग्राहक युवती को अपने साथ ले जाना चाहता था, तो वैसे ग्राहकों से राजन अलग रेट लेता था। इसी डील के तहत आशुतोष एक लड़की को अशोकनगर ले गया था, जहां पकड़ा गया।

काफी दिनों से है रांची पुलिस को राजन की तलाश:

रांची पुलिस को सेक्स रैकेट का कारोबार चलाने वाले राजन सिंह और रुद्रा की बहुत दिनों से तलाश है। पुलिस ने दोनों को पकड़ने के लिए कई संभावित ठिकानों पर छापेमारी भी की, लेकिन नहीं पकड़े जा सके। पूर्व में भी रांची विश्वविद्यालय के समीप रुद्रा और तीन युवती को गाड़ी समेत साइबर थाने की टीम ने पकड़ा था, लेकिन सभी को पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया था। हालांकि, रांची पुलिस की टीम ने राजन के रेस्तरां में छापेमारी कर होटल मैनेजर और दो कर्मचारी को गिरफ्तार कर जेल भेजा था।

अन्य खबरों के लिए पढ़ें :

National | International | Bollywood | Bihar | Jharkhand | Bhagalpur | Business | Gadgets

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें eBiharJharkhand App

You must be logged in to post a comment Login